पीएम मोदी की नेपाल यात्रा कितनी महत्वपूर्ण, जानिए दोनों देशो के बीच किन किन समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

नेपाल: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने नेपाल यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच उच्च शिक्षण संस्थानों और अन्य कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए इनमें शिक्षण संस्थानों के बीच हुए समझौते खास रहे। दोनों देशों का मानना है कि इस समझौते से दोनों देशों के छात्रों को लाभ मिलेगा।

भारतीय अध्ययन से लेकर संयुक्त डिग्री कार्यक्रम तक कई समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

दोनों देशों के बीच बौद्ध अध्ययन के लिए डॉ. अंबेडकर पीठ की स्थापना हेतु भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद और लुंबिनी बौद्ध विश्वविद्यालय के बीच एक समझौता हुआ। भारतीय अध्ययन के लिए आईसीसीआर (ICCR) चेयर की स्थापना पर और सीएनएएस(CNAS) त्रिभुवन विश्वविद्यालय के बीच तथा भारतीय आईसीसीआर (ICCR) और काठमांडू विश्वविद्यालय(KU) के बीच भी समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

दोनों देशों के बीच हुए अन्य समझौतों में मास्टर स्तर पर संयुक्त डिग्री कार्यक्रम के लिए काठमांडू विश्वविद्यालय और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास के बीच समझौता ज्ञापन शामिल है। साथ ही जलविद्युत परियोजना के विकास और कार्यान्वयन के लिए भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एसजेवीएन लिमिटेड और नेपाल विद्युत प्राधिकरण के बीच भी एक समझौते पर हस्ताक्षर किया गया।

शिलान्यास समारोह में शामिल होने पहुंचे थे पीएम

ज्ञात हो कि प्रधान मंत्री आज सुबह आधिकारिक दौरे पर लुंबिनी पहुंचे थे। जहाँ नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा और उनकी पत्नी आरजू देउबा द्वारा उनका स्वागत किया। दोनों देशो के प्रधानमंत्रीयों ने बुद्ध जयंती के अवसर पर लुम्बिनी में बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र के निर्माण के लिए शिलान्यास समारोह में भाग लिया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने माया देवी मंदिर का भी दौरा किया। प्रधानमंत्री के रूप में यह उनकी नेपाल की पांचवीं और लुंबिनी की पहली यात्रा रही है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button