सीएम आवास घेरने निकले ‘आप’ कार्यकर्ताओं को रोकने पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत, हसदेव अरण्य में जंगल काटे जाने का किया विरोध

रायपुर। आम आदमी पार्टी, छत्तीसगढ़ द्वारा हसदेव अरण्य के जंगल को बचाने की मुहिम के तहत मुख्यमंत्री आवास के घेराव का प्रयास किया गया। बड़ी संख्या में निकले आप नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इस दौरान OCM चौक पर लगाए गए बेरिकेट को तोड़ा और आगे बढ़े मगर पुलिस ने गॉस मेमोरियल स्कूल के पास बने दूसरे बेरिकेट पर इन्हें रोक लिया।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी संजीव झा के नेतृत्व में प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के संयोजन में यह घेराव किया गया। इस घेराव में आसपास से बड़ी संख्या में ‘आप’ के कार्यकर्त्ता पहुंचे और नलघर चौक से इनकी पदयात्रा शुरू हुई। इस दौरान कार्यकाताओं को संबोधित करते हुए संजीव झा ने कहा कि हसदेव अरण्य में आदिवासी लगातार विरोध कर रहे है और पर्यावरण विशेषज्ञों की चेतावनी के बाद भी राज्य की कांग्रेस सरकार ने परसा कोयला खदान को मंजूरी दे दी है। हसदेव अरण्य के गांव में ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले विधानसभा चुनाव से पूर्व कहा था कि अगर कांग्रेस सरकार में आई तो वे आदिवासियों के साथ खड़े रहेंगे और कोयला खदान नहीं खुलने देंगे। सरकार बनने के बाद सब कुछ भूलकर कांग्रेस सरकार ने खदानों को मंजूरी देना शुरु कर दिया है।

भाजपा-कांग्रेस भाई भाई – हुपेंडी

‘आप’ के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा कि प्रदेश सरकार अडानी की गोद मे जाकर बैठ चुकी है, लेकिन हम हसदेव अभ्यारण्य में खदानों के कोई काम नही होने देंगे चाहे हमें कुछ भी करना पड़े। इतने विरोध के बावजूद सरकार सुप्त अवस्था में है,और भाजपा भी चुप है क्योंकि भाजपा कांग्रेस भाई भाई हैं।

पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद ‘आप’ नेताओं ने मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ‘आप’ नेताओं ने अपने इस आंदोलन के सफल होने का दावा कहा है कि चाहे उनकी जान क्यों न चली जाए, वे हसदेव अरण्य को बचाकर रहेंगे।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button