SECL के CMD मिश्रा को उद्योग रत्न अवार्ड, कोयला उद्योग में बेहतर नेतृत्व के लिए मिला सम्मान

बिलासपुर। SECL मुख्यालय बिलासपुर के CMD प्रेम सागर मिश्रा को इंस्टीट्यूट ऑफ इकॉनामिक स्टडीज (IIS) नईदिल्ली ने प्रतिष्ठित ‘उद्योग रत्न’ अवार्ड दिया है। उन्हें यह सम्मान कोयला उद्योग में बेहतर नेतृत्व के लिए दिया गया है।

SECL’s CMD Mishra received Udyog Ratna Award for his superior leadership in the coal industry

SECL के जनसंपर्क अधिकारी सनिश चंद्रा ने बताया कि यह पुरस्कार समारोह गुरुवार को को नई दिल्ली के इंडिया हेबिटाट सेन्टर में आयोजित किया गया। असम के राज्यपाल प्रो0 जगदीश मुखी के गरिमामय समारोह में उन्हें यह अवार्ड दिया गया।

इंस्टीट्यूट ऑफ इकॉनामिक स्टडीज (IES), नई दिल्ली जनजागरूकता की दिशा में काम करने वाली देश की प्रीमियर इन्सटिट्यूट है। यह एक नॉट फॉर प्रॉफिट संगठन है।

माइनिंग इंजीनियर से लेकर CMD का सफर

कोयला उद्योग में डा. प्रेम सागर मिश्रा की छवि माइनिंग इंजीनियर की है। उन्होंने देश की कई बड़ी खदानों में तकनीक एवं नवाचार के सफलतापूर्वक समन्वय के साथ बेहतर नेतृत्व क्षमता का प्रदर्शन किया।

विशेष रूप से भूमिगत खदानों में डॉ. मिश्रा ने विशेषज्ञता हासिल की है। इसके पहले वे ईस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड के CMD भी रह चुके हैं। डॉ. मिश्रा ने बिजनेस लॉ में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा और CSR से संबंधित विषय पर पीएचडी की उपाधि हासिल की है।

पहले भी मिल चुका है एक्सीलेंस अवार्ड

इसके पहले भी डॉ. मिश्रा को फरवरी 2019 में वर्ल्ड HRD कांग्रेस की ओर से प्रतिष्ठित ‘सीईओ विद एचआर ओरिएंटेशन’ पुरस्कार दिया गया था। जनवरी 2020 में इंडियन माइन मैनेजर्स एसोसिएशन (IMMA) की ओर से ‘एक्सीलेंस अवार्ड’ जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया गया था।

Back to top button