हसदेव अरण्य की गूंज कैंब्रिज यूनिवर्सिटी तक… Video

रायपुर। हसदेव अरण्य को बचाने में जुटे आदिवासियों की गूंज अब कैंब्रिज यूनिवर्सिटी तक पहुंच गई है। कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने लंदन में कहा है कि हसदेव में खनन अनुमति के खिलाफ चल रहे आंदोलन की उनको जानकारी है। मैं भी उत्खनन के खिलाफ हूं। आगामी कुछ हफ्तों में इसका नतीजा दिखेगा।

बता दें कि राहुल गांधी कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में रखे गए छात्रों के साथ इंडिया एट 75 कार्यक्रम में संवाद के लिए उपस्थित थे। इसी दौरान एक छात्रा ने उनसे सवाल किया कि वर्ष 2015 में आपने हसदेव अरण्य के आदिवासियों को आश्वासन दिया था कि आप उनके साथ खड़े हैं।

मगर छत्तीसगढ़ में आपकी ही अपने फैसले से पीछे हट रही है। राज्य सरकार ने हसदेव में खनन के लिए वन अनुमति दे दी है। आप अपनी पार्टी के फैसले का कैसे बचाव करेंगे? आपके आश्वासन और आदिवासी लोगों के वन पर अधिकार की बात है।

राहुल गांधी ने कहा कि मुझे खुद इस फैसले से परेशानी महसूस हो रही है। मैं बचाव नहीं करूंगा।

छात्रा ने फिर पूछा- ठीक है, आप इसके खिलाफ खड़े होने के लिए क्या कर रहे हैं? राहुल ने कहा मैं, इस पर काम कर रहा हूं। पार्टी में भी इस पर काम हो रहा है।
सवाल- क्या आप इस बारे में विस्तार से बताएंगे?
राहुल- आप परिणाम देखेंगे।
सवाल- कब?
राहुल- कुछ हफ्ते में।
सवाल- हम इसे कहां देखेंगे?
राहुल- छत्तीसगढ़ में।
सवाल- क्या आप उत्खनन पूरी तरह बंद करने के लिए काम कर रहे हैं?
राहुल- मैं देख रहा हूं, वहां के आंदोलन को। मुझे लगता है कि कुछ मायनों में यह विरोध जायज है।
सवाल- किन मायनों में यह विरोध अनुचित लगता है?
राहुल- मैंने इसे उचित ही बताया है। इस विषय पर मैं आपके जुनून की सराहना करता हूं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button