1 जून से आ रहे हैं ये बड़े बदलाव, जानें आपकी जेब पर क्या होगा असर

टीआरपी डेस्क। मई का महीना खत्म होने वाला है वहीं जून माह की शुरुआत होने वाली है। 1 जून माह से ही व्यापार, बैंकिंग वित्त-खर्च को लेकर कुछ बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। ये बड़े बदलाव आपकी जेब पर भी असर डालेंगे। आइए नजर डालते हैं ऐसे कौन से बड़े बदलाव 1 जून से होने जा रहे हैं जिससे आपकी जेब पर सीधा असर होगा।

बैंकिंग

देश का सबसे बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक SBI Home Loan के लिए एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट को बढ़ाने जा रहा है। यह बढ़ी हुई दर 1 जून से ही लागू होने जा रही है। बैंक की नई एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट 1 जून से 7.05 फीसदी हो जाएगी। इसके साथ ही बैंक की नई रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट 0.40 फीसदी बढ़कर 6.65 फीसदी हो जाएगी।

एक्सिस बैंक ने एवरेज मंथली बैलेंस शीट की लिमिट बढ़ा दी गई। 1 जून से एवरेज मंथली बैलेंस शीट की लिमिट 25 हजार रुपये होना आवश्यक होगा, ऐसा नहीं होने पर पहले से ज्यादा सर्विस चार्ज काटा जाएगा। इसी के साथ ही ऑटो डेबिट सक्सेस नहीं होने पर अब पहले के मुकाबले ज्यादा पेनाल्टी भी लगेगी।

राशन

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1 जून से राशन को लेकर भी कुछ बदलाव लागू होंगे। नए नियमों के मुताबिक उत्तरप्रदेश बिहार और केरल में 3 किलो चावल और 2 किलो गेंहू नहीं ले पाएंगे। योजना के तहत गेंहू की कम खरीद होने के चलते 1 जून से सिर्फ 5 किलो चावल ही मुफ्त मिलेगा।

वाहन

1 जून से कार और बाइक इंश्योरेंस महंगा हो जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से थर्ड पार्टी इंश्योरेंस का प्रीमियम महंगा कर दिया गया है यह बढ़ी हुई कीमत 1 जून से ही लागू होगी। ग्राहक को कार के इंजन की कैपेसिटी के हिसाब से प्रीमियम देना होगा।

हॉलमार्किंग

गोल्ड हॉलमार्किंग का दूसरा चरण शुरू होने के साथ ही नया नियम भी 1 जून को लागू हो जाएगा। पुराने 256 जिलों के अलावा नए 32 जिलों को इसमें शामिल किया गया है। नए नियम के तहत इन शहरों में सभी ज्वैलर को हॉलमार्किंग ज्वैलरी ही बेचनी होगी।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button