Important News : आकाशीय बिजली से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके, इनसे बच सकती है हजारों लोगों की जान

TRP डेस्क : बरसात का मौसम शुरु हो गया है। इस मौसम में एक बड़ा खतरा हमेशा बना रहता है, वो है आकाशीय बिजली से होने वाले नुकसान का। देश मे हर साल हजारों लोग बिजली गिरने से अपनी जान गँवा देते हैं। एक सर्वे के मुताबिक भारत में गाज गिरने से मरने वाले लोगों की संख्या सालाना 2500 से भी अधिक है। वहीं कई हजार लोग बिजली गिरने के कारण घायल हो जाते हैं कुछ को आजीवन विकलांगता से भी ग्रसित होना पड़ता है। इनमें अधिकांश गाँव में रहने वाले और खेतों में काम करने वाले किसान होते हैं।

आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं। जिनको ध्यान में रखकर हम आकाशीय बिजली की चपेट में आने से खुद को बचा सकते हैं। इस संदेश को आगे बढ़ाकर हम हजारों लोगों की जिंदगी बचा भी सकते हैं। तो आइये देखें उन बातों को जिन्हें ध्यान में रखकर हम गाज से बच सकते हैं:-

घर से बाहर होने पर इन बातों का करें अनुसरण:-

  • अगर कभी बारिश में फँस जाएँ तो कभी भी पेड़ के निचे खड़े न हों। क्योंकि पेड़ बिजली को आकर्षित करते हैं।
  • समूह में खड़े न हों। समूह में खड़े रहने से बिजली गिरने का खतरा बढ़ जाता है। जितना संभव हो दूर दूर खड़े रहें।
  • अगर आप जंगल या खेत जैसे स्थान पर हैं और आस पास मवेशियों का झुंड है तो उससे दूर रहें।
  • यथा संभव सूखे रहने का प्रयास करें और सूखी जमीन पर खड़े हों।
  • अपने पैरों के नीचे सूखी वस्तुएं रख लें। जैसे- प्लास्टिक, लकड़ी, बोरा, सूखे पत्ते इत्यादि।
  • धातु से बनी वस्तुओं जैसे की बिजली के खंबे, मशीन, गाड़ियों से यथा संभव दुर रहें।
  • यदि आप बाइक चला रहे हैं, तो बाइक रोककर उससे कुछ दूरी पर खड़े हो जाएं।
  • जहाँ हैं वहीं रुके रहें, अनावश्क चहल पहल से बचें।
  • दोनों पैरों को आपस में चिपका लें, दोनों हाथों को घुटनों पर रख कर सर को जमीन की ओर जितना हो सके झुका लें।
  • सिर को जमीन से सटने न दें और भूल से भी जमीन पर लेटें नहीं।
  • बादल गरज रहे हों तो यथासंभव कान बंद रखें। वरना आपकी श्रवण क्षमता प्रभावित हो सकती है।
  • लोहे के छड़ से बनी छतरी का प्रयोग न करें। यह भी बिजली को आकर्षित कर सकती है।

घर पर इन बातों का रखें ध्यान:-

  • घर पर सुरक्षित स्थान पर बारिश से दूर शांतिपूर्वक बैठे रहें।
  • विद्युत उपकरणों से दूर रहें, तार वाले टेलीफोन का उपयोग न करें।
  • खिड़कियों, दरवाजों, बरामदे और छत से दूर रहें।

ध्यान रखें यदि आप बरसात में घर से बाहर हैं और किसी समय अचानक आपके सर के बाल खड़े हो जाएं या शरीर में अचानक झुनझुनी का अनुभव होने लगे तो तुरंत नीचे बैठकर कान बंद कर लें। ऐसा होना इस बात का संकेत है कि आपके आसपास ही कहीं बिजली गिरने वाली है।

बिजली गिर जाने पर क्या करें?

  • सर्वप्रथम सुनिश्चित करें कि आकाशीय बिजली जिस व्यक्ति पर गिरी है, उसे छूना सुरक्षित है या नहीं।
  • सामान्यतः बिजली गिरने की वजह से व्यक्ति की हार्ट अटैक आने से मौत होती है। इसलिए सबसे पहले जांच करें कि पीड़ित की धड़कन और सांस चल रही है या नहीं।
  • अगर व्यक्ति की सांसे नहीं चल रही हैं तो अपने मुंह से सांस दें (सीपीआर) दें।
  • धड़कन रुक जाने पर सीपीआर देने के साथ छाती को जोर-जोर से दबाएं।
  • बिजली गिरने पर व्यक्ति की हड्डियां टूट सकती हैं या फिर उसे दिखना या सुनना बंद हो सकता है इसलिए जांच करवा लें।
  • एक ही स्थान पर फिर से बिजली गिरने की संभावना रहती है। इसलिए घायल को उस जगह से तुरंत हटा लें।
  • जितनी जल्दी हो सके, मरीज को चिकित्सीय सहायता उपलब्ध कराएं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button