IAS अध‍िकारी के बेटे ने आत्महत्या की या हुई हत्या..? पुलिस और परिजनों के बीच आरोप-प्रत्‍यारोप

चंडीगढ़। कुछ दिनों पहले ही पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने भ्रष्टाचार के आरोप में आईएएस अधिकारी संजय पोपली और उनके एक साथी को ग‍िरफ्तार किया था। आईएएस अध‍िकारी संजय पोपली के बेटे कार्तिक पोपली की संद‍िग्‍ध पर‍िस्थ‍ितियों में गोली लगने से मौत हो गई है। संजय पोपली ने आरोप लगाया है क‍ि सतर्कता विभाग ने उनके बेटे की हत्‍या की है। वे खुद को इस घटना का गवाह भी बता रहे हैं। पर‍िवार का भी दावा है क‍ि कार्तिक की हत्‍या हुई है। हालांक‍ि चंडीगढ़ पुलिस का कहना है क‍ि उसने खुद को गोली मार आत्‍महत्‍या कर ली है।

पुलिस पर बेटे को गोली मारने का आरोप

आईएएस संजय पोपली का आरोप है क‍ि उनके बेटे की गोली मारकर हत्‍या की गई है। उन्‍होंने अपने बयान में कहा क‍ि मैं इस घटना का एक चश्मदीद गवाह हूं।पुलिस अधिकारी मुझे ले जा रहेथे, और मेरे बेटे को उन्होंने गोली मार दी थी। आईएएस अधिकारी के बेटे की शनिवार को गोली लगने से मौत हो गई। जहां पुलिस ने कहा कि कार्तिक पोपली की मौत आत्महत्या से हुई है, वहीं उसके परिवार ने दावा किया है कि उसकी हत्या की गई है।

उधर कार्तिक पोपली की मां ने आरोप लगाते हुए कहा क‍ि उन्होंने मेरे बच्चे को प्रताड़ित किया और उसे मार डाला। उन्होंने सबूत के लिए मेरी घरेलू सहायिका को प्रताड़ित किया। पूरा विजिलेंस ब्यूरो और डीएसपी मुख्यमंत्री के दबाव में हैं। इस तरह वे लोगों को मार रहे हैं।

पुलिस का क्‍या है कहना..?

एसएसपी चंडीगढ़ कुलदीप चहल का कहना है कि विजिलेंस टीम संजय पोपली के घर पर आई थी, तभी उनके बेटे कार्तिक पोपली ने खुद को गोली मार ली। चहल का दावा है कि कार्तिक ने अपने पिता की लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मार ली। विजिलेंस टीम संजय पोपली के घर जांच के लिए पहुंची थी। लेकिन वेरिफेकेशन के बाद उसने पाया कि आईएएस के बेटे ने खुद को गोली मार ली है।

इस तरह हुई यह घटना

आईएएस अफसर संजय पोपली को पिछले दिनों भ्रष्‍टाचार के आरोप में ग‍िरफ्तार किया था। इस मामले पर पुलिस ने अपने बयान में बताया क‍ि पोपली के घर से 12 किलो सोना बरामद हुआ। इसके अलावा एक किलो की नौ सोने की ईंटें, 49 सोने के बिस्किट और सोने के 12 सिक्के मिले। यही नहीं, तीन किलो चांदी की ईंटें भी मिली हैं। पुलिस का कहना है कि बैग को कब्जे में लेने के दौरान कार्तिक ने खुद को गोली मार ली।

1% के कमीशन से बिगड़ गया खेल

संजय पोपली पंजाब के सीनिसर आईएएस अफसर हैं। वे पेंशन निदेशक की पोस्ट पर थे। उन पर आरोप है क‍ि उन्‍होंने सीवरेज बोर्ड सीईओ रहते 7.3 करोड़ की सीवरेज परियोजना में ठेकेदार से 1% कमीशन की मांग की थी। ठेकेदार ने बतौर पहली किश्त पोपली को 3.50 लाख दे दिए थे। इसके बाद संजय पोपली दूसरी किश्त की लगातार मांग कर रहे थे। इसके बाद हरियाणा के करनाल इलाके के ठेकेदार ने सीएम मान की हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज करवा दी। जिस पर उनकी गिरफ्तारी के आदेश हुए।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button