BREAKING NEWS : हथबंद रेल्वे स्टेशन में RPF और विजलेंस की टीम ने मारा छापा, टिकट क्लर्क के साथ ट्रेवल एजेंट का स्टाफ गिरफ्तार

भाटापारा। RPF भाटापारा को मिली गोपनीय सूचना के आधार पर रेल सुरक्षा बल की एक विशेष टीम ने विजलेंस बिलासपुर की टीम के साथ हथबंद रेल्वे स्टेशन के बुकिंग काउंटर में छापा मारा। यहां तत्काल टिकट बनाने के समय एक युवक और टिकट क्लर्क को सात आरक्षित टिकट के साथ पकड़ लिया गया।

“तत्काल टिकट” के समय दी दबिश

मामले की जानकारी देते हुए भाटापारा रेसुब पोस्ट में पदस्थ उपनिरीक्षक बीडी गोस्वामी ने बताया कि प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त ए एन सिन्हा के निर्देशन एवं मंडल सुरक्षा आयुक्त संजय गुप्ता के मार्गदर्शन में आरपीएफ पोस्ट, भाटापारा के सहायक उप निरीक्षक एमके पोर्ते अपने दल विजिलेंस बिलासपुर की टीम के साथ मिलकर हथबंद रेलवे के स्टेशन बुकिंग काउंटर में तत्काल टिकट के समय दबिश दी गई। इस दौरान एक व्यक्ति जिसका नाम उदय धृतलहरे तथा बुकिंग क्लर्क हथबंद अमित कुमार सिन्हा को अवैध तरीके से रेजेर्वेशन टिकट बनाते हुए दबोच लिया गया।

रेल्वे टिकट क्लर्क अमित सिन्हा

ट्रेवल एजेंट का करता है काम

पकड़े गए युवक उदय धृतलहरे से RPF ने बनारस से एलटीटी के चार और पटना साहिब से एलटीटी के तीन कुल सात लोगो का टिकट मूल्य 8170 रुपये जप्त किया। पूछताछ में उदय ने कबूल किया कि वो सतगुरु ट्रैवल्स, नया बस्ती, बस स्टैंड, बेमेतरा के मालिक आकाश रोहरा के लिए टिकट बनाने के लिए पूर्व में भी कई बार आ चुका है। टिकट काउंटर में वो क्लर्क को 6000 रुपये दे चुका था जबकि टिकट कुल 8,170 रूपये का बना था। उसे हथबंद में टिकट बनाने के लिए आकाश रोहरा ने ही भेजा था।

अंतर्राज्यीय गिरोह की भूमिका..?

इस छापामार कार्रवाई में जो आरक्षित टिकट जब्त किये गए हैं उसे देखकर आशंका जताई जा रही है कि किसी गिरोह के माध्यम से टिकट रिजर्वेशन का यह खेल चल रहा है। हथबंद के टिकट काउंटर से बनारस से एलटीटी के और पटना साहिब से एलटीटी का टिकट रिजर्वेशन करने का क्या औचित्य। दरअसल छोटे स्टेशनों के रिजर्वेशन काउंटर में भीड़ कम होती है, जिसके चलते टिकट दलाल ऐसे स्थान पर रेलवे स्टाफ से मिलीभगत करके “तत्काल” टिकट का रिजर्वेशन करवाते हैं। ऑनलाइन पेमेंट के इस दौर में देश के किसी भी शहर में बैठे दलाल कन्फर्म रिजर्वेशन का काम इसी तरीके से करते हैं।

टिकट दलालों और रेलवे स्टाफ के बीच मचा हड़कंप

इस मामले में RPF ने भाटापारा पोस्ट में मामला दर्ज किया और बुकिंग क्लर्क हथबंद अमित कुमार सिन्हा तथा टिकट दलाल उदय धृतलहरे को रेल अधिनियम की धारा 143 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। इस कार्यवाही से रेल टिकट की कालाबाजारी करने वालों और रेल कर्मचारियों के बीच हड़कंप मच गया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button