मटन और चिकन से तीन गुना महंगा बोड़ा और पुटू, खेक्सी भी 200 रू किलो

0 बस्तर और गरियाबंद की मौसमी सब्जी का राजधानी 400 से 1600 रूपये किलो

रायपुर। टीआरपी डेस्क
मानसूनी सीज़न की सबसे स्वास्थ्यवर्धक सब्ज़ियों में शुमार बस्तर और गरियाबंद की सब्ज़ी बोड़ा व पुटू राजधानी के बाजार में पहुँचने लगी है। इन दोनों ही जंगली उपज की लोकप्रियता का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है की इनके दाम 650 रूपये किलो बिकने वाले मटन और 180 रूपये किलो चिकन से तीन गुना ज़्यादा है। बारिश के मौसम की इस खास सब्ज़ी की आवक और कीमत में इतने अंतर की वजह है इसके कई तरह के गुण। बारिश की वजह से हरी सब्ज़ियों की अवाक् भी घटने से कुछ के दाम सुनकर ग्राहक भी चौंक गए हैं। छत्तीसगढ़ की दूसरी लोकप्रिय सब्ज़ी है खेक्सी जिसका दाम है 200 रूपये किलो।

सेमी, हरी धनिया और ग्वार फल्ली की कीमत में भी उठान है। थोक सब्जी विक्रेता समिति डूमरतराई के अध्यक्ष टी श्रीनिवास के मुताबिक बारिश के दिनों में आवक और फसल को नुकसान के कारण दाम और उपलब्धता घट जाती है। बताते हैं कि प्रदेश में अब भी 70 फीसदी सब्जियों की आवक बाहरी राज्यों से होती है। इसका भी असर दामों पर पड़ता है।

बोड़ा चिल्लहर में 400 तो थोक का दाम 300 रूपये किलो है। इसी तरह पुटू का चिल्लहर दाम 1600 और थोक दाम 1200 है। छोटी खेक्सी 200 रु प्रति किलो और हर धनिया 160 रु किलो में मिल रही है। कोचई, परवल,ग्वारफली 50 -60 रु प्रति किलो में है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button