विपक्ष और सत्तापक्ष के बेमुद्दा बहस से विस अध्यक्ष खफा, सदन की कार्रवाई 10 मिनट के लिए की स्थगित

0 सीएम भूपेश ने कहा माहौल ख़राब करते हैं विधायक अजय चंद्राकर, अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा छोड़ निजी टिपण्णी पर छिड़ी बहस

रायपुर। विशेष संवादाता/टीआरपी
भूपेश सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर सदन में चर्चा के दौरान तब माहौल तल्ख़ हो गया जब पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक अजय चंद्राकर की टिपण्णी से आदिवासी विधायक विरोध में उठ खड़े हुए।अविश्वास प्रस्ताव की चर्चा में आदिवासी अपमान के मुद्दों को लेकर विवाद करते हुए भाजपा विधायक और सत्ता पक्ष के आदिवासी विधायकों के बीच ठन गयी। अजय चंद्राकर द्वारा आदिवासी दिवस की छुट्टी के औचित्य पर सवाल उठाने पर बवाल करने लगा। अजय चंद्राकर ने कहा था कि आदिवासी दिवस वहां मनाया जाता है जहाँ आदिवासी का अस्तिव खतरे में है।

इस टिपण्णी के बाद आदिवासी विधायको ने हंगामा करते हुए माफी की मांगने की मांग करते रहे। हंगामे के बीच मुख्यमंत्री को हस्ताक्षेप करना पड़ा। मुख्यमंत्री ने कहा अजय चंद्राकर की ऐसी बात करने की प्रवृति है। हर बार ये लगातार ऐसी टिप्पणी करते है। हमारे कवासी लखमा को आइटम गर्ल कहा और विधायकों को चीयरलीडर कहते है और अब आदिवासी दिवस पर टिप्पणी की है। वो हर बार माहौल खराब करते है। इसपर अजय चंद्राकर ने कहा मैंने क्या किस संदर्भ में कहा रिकार्ड दिखवा लें फिर आसंदी का जो निर्देश होगा मैं उसका पालन करूँगा। अजय चंद्राकर ने कहा फिर भी अगर मैं ने जो कुछ कहा है और वो गलत है तो खेद व्यक्त करता हूँ। विधानसभा अध्यक्ष ने दोनों पक्षों के व्यवहार को लेकर काफी नाराजगी जताई । विस् अध्यक्ष ने दोनों पक्षों को सदन में शब्दों के प्रयोग और विषय से भटक कर अन्य मुद्दों पर चर्चा को बेमुद्दाबताया। विधानसभा अध्यक्ष इस बहस और टिपण्णी से असहमत नाराज होकर कार्यवाही 10 मिनट के लिए सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button