मानसून सत्र में हो गए थे टारगेट, वरिष्ठ आईएएस होंगे इधर से उधर

0 लंबे वक्त से जमे और विभागीय जवाबदेही में नाकाम का होगा फेरबदल

रायपुर। विशेष संवादाता/टीआरपी
सूबाई सरकार एक बार फिर महकमे के आला अफसरों की जिम्मेदारी में फेरबदल करने वाली है। वरिष्ठ आईएएस और सचिव स्तर के अफसरों की फेहरिस्त भी तैयार कर ली गई है। मंत्रालय स्तर में होने वाले फेरबदल में ऐसे भी होंगे जिनकी वजह से सत्र के दौरान चूक भी हुई। सवाल और जवाब की लेटलतीफी के साथ ही वक्त से ज़्यादा समय बिताने वाले सेक्रेटरी स्तर के अफसरों के नाम ट्रांसफर लिस्ट में है। लिस्ट बनकर सूबा-ए-सदर के दफ्तर में पहुँच गई है। बस उनकी मसरूफियत ख़त्म होते ही लिस्ट ओके होगी। उम्मीद की जा रही है की सीनियर आईएएस मंत्रालय स्तर की ये तबादला लिस्ट सप्ताह के अंदर आएगी। जानकारी के मुताबिक बीते माह ही कलेक्टर स्तर पर बल्क में तबादला किया गया था। हालांकि विधानसभा के बजट सत्र के बाद से ही इसके कयास लगाए जा रहे थे। इस बार भी मानसून सत्र के दौरान प्रशासनिक विभागीय मुखियाओं की भूमिका अदा करने वाले आईएएस टार्गेटेड हैं। वैसे भी शासन के पास मंत्रालय स्तर और महकमा सम्हालने वाले सेक्रेटरी लेवल के अफसरों की कोई कमी नहीं है।

चुनावी तैयारी से पहले बेस्ट से बेस्ट खोज रही सरकार

बता दें कि भूपेश सरकार गांव, शहर, जिलों तक सरकारी योजनाओं और शासन की नीतियों को लेकर पूरी गंभीरता से काम करवाने का माद्दा रखने वाले सीनियर आईएएस को खास महकमों का जिम्मा देने वाली है। इतना ही नहीं अब से एक अला अफसर के पास बहुत से विभाग नहीं होंगे। ताकि अधिकारी भी पूरी तन्मयता से बेहतर परफॉर्मेंस दे सकें इसलिए एक के पास एक ही विभाग देने का विचार भी किया गया है। इसका असर वरिष्ठ अधिकारीयों, मंत्रालय स्तर के अलावा सचिवों के साथ ही कुछ बोर्ड निगमों के एमड़ी भी बदल सकते है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button