भाजपा नेता ने वन विभाग के कर्मचारियों पर बरसाये लात-घूंसे, चोरी की लकड़ी से भरी पिकअप रोकने पहुंचें थे वनकर्मी

कोरबा। जिले के उरगा थाना क्षेत्र में वनकर्मियों के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। ये मारपीट बरपाली काष्ठागार के प्रभारी और उनके साथी कर्मचारी के साथ उस वक्त की गयी जब वें दोनों शासकीय लकड़ी चोरी कर भाग रहे लोगो को पकड़ने पहुंचे थे।

दरअसल काष्ठागार प्रभारी हरिनारायण बंजारे को सूचना मिली थी कि नेशनल हाईवे एनएच 149 जहां सड़क चौड़ीकरण के कारण सड़क किनारे के पेड़ों को काट कर लकड़ियों को वही रखा गया है। जिसे दो लोग चोरी कर के भाग रहे हैं। इसे देखने के लिए वे अपने एक साथी बिजेंद्र कुमार नेटी के साथ वहां पहुंचे और देखा कि दो व्यक्ति एक पिकअप में कटी हुई लकड़ियां भर रहे थे और BFO को आता देखकर पिकअप लेकर भागने लगे। जिसके बाद दोनों वनकर्मियों ने सामने जाकर पिकअप को रोक लिया और मामले की सूचना उन्होंने अपने अधिकारियों को दी।

इसी बीच लकड़ी ले कर भाग रहे पिकअप सवारों ने फ़ोन कर कुछ लोगो को बुला लिया। इनमे से एक झाम लाल साहू को BFO हरिनारायण बंजारे ने पहचान लिया, जो भाजपा के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का जिला उपाध्यक्ष है। इन लोगो ने फिर हरिनारायण और उनके साथी वनकर्मी बिजेंद्र कुमार के साथ गाली गलौज करते हुए लात घूंसे से मारपीट शुरू कर दी।

हरिनारायण के अनुसार जब वे अपने साथ हुई मारपीट की शिकायत करने उरगा थाना में गए तो उनकी एफआईआर दर्ज करने आना-कानी की जा रही थी। जिसके बाद वन विभाग के अधिकारियों द्वारा थाने में दबाव बनाने के बाद मारपीट करने वालों पर धारा 294, 323, 34 तथा 506 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। वहीं आरोपियों पर लगाए गए धाराओं में शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने की धारा को शामिल न करने पर वनकर्मियों और अधिकारीयों में नाराज़गी भी देखी गयी है।

Back to top button