ईडी खोज रही गोल्ड, डायमंड और हवाला का हिसाब

0 सुमित, पगारिया, सहेली, नवकार, मोहनी ज्वेलर्स के घर-दफ्तर में जांच जारी

0 नौकरशाहों के पैसों को ठिकानें लगाने का जरिया बनने का संदेह

रायपुर। विशेष संवादाता। टीआरपी
छत्तीसगढ़ के धनकुबेरों की काली कमाई पर सेन्ट्रल की पैनी नज़र है। इसी का नतीजा है कि कोलकता की आयकर अधिकारियों की टीम दो दिन से इस्पात और पावर प्लांट कारोबारियों की जांच में जुटी है और अभी भी कर चोरी के अलावा फेक कंपनी बनाकर कच्चे में सौदा करने की पड़ताल जारी है। वहीं आज तड़के साढ़े 6 बजे प्रवर्तन निदेशालय की महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ का जांच दस्ता एक साथ प्रदेश के टॉप के ज्वेलर्स, टेक्सटाइल व्यवसाइयों को घेरा है। एक साथ डेढ़ दर्जन ठिकानों में सीआरपीएफ के सशस्त्र बालों के साथ ईडी ने धावा बोला। बताते हैं कि ईडी को इनपुट मिला है की छत्तीसगढ़ के नौकरशाहों की काली कमाई ज्वेलर्स और हवाला के जरिये ठिकाने लगाई जा रही हैं।

सुमित ज्वेलर्स का सिविल लाइन स्थित आवास

सराफा कारोबारियों के स्टॉक, बिक्री और गोल्ड-डायमंड की मांग के साथ ही साथ हवाला कारोबार में लिप्त होने के शक में भी कार्रवाई की है। सूत्रों की मानें तो आईटी की रेड और पूर्व रिकार्डों को ध्यान में रखकर ईडी की दबिश हुई है।

समाचार लिखे जाने तक रायपुर, दुर्ग, भिलाई, कुम्हारी और राजनांदगांव में पड़ताल जारी थी। बताते हैं कि सुमित ज्वेलर के खांकरिया, नाकोड़ा और बरडिया के निवास सराफा दुकानों से ईडी की टीम को कच्चे में लेनदेन, क्रय-विक्रय के आंकड़ों में बड़ा अंतर मिला है।

बरड़िया निवास में तैनात सीआरपीएफ महिला सिपाही

फ़िलहाल ईडी अधिकृत तौर पर सराफा, टेक्सटाइल कारोबार से जुड़े सभी से क्या मिला इसका एलान नहीं की है पर इनके 2 सीए को भी टारगेट में ले ली है।

ईडी की इनके यहां तफ्तीश

राजधानी रायपुर में पंडरी स्थित नाकोड़ा टेक्स टाइल्स और इनसे जुड़े अन्य 3 ठिकाने, सुमित ज्वेलर्स, सदर बाजार, सिविल लाइन के निवास, हलवाई लाइन स्थित पगारिया ज्वेलर्स के अलावा शैलेन्द्र नगर स्थित निवास पर भी टीम पहुंची हैं। शांतिलाल बराडिया, दुर्ग में खण्डेलवाल कालोनी में सीए सुनील जैन, शिवम स्टोर, जीवन प्लाजा, सीए राजेन्द्र कोठारी के कार्यालय, सराफा लाइन के सहेली ज्वेलर्स, नवकार ज्वेलर्स, प्रकाश सांखला और मदन ज्वेलर्स के भोई पारा स्थित निवास व ठिकानों में दबिश दी गई हैं। राजनांदगांव में मोहनी ज्वेलर्स के यहां दबिश दी गई हैं। सभी जगह सीआरपीएफ मौजूद हैं। पिछले साल भी इनमे से कई ग्रुपो में इन्कमटैक्स की रेड पड़ी थी। इन समूहों में रोजाना बड़ा ट्रांजेक्शन होता हैं। चर्चा है कि हवाले के पैसों के लेनदेन की सूचना पर ईडी ने रेड की है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button