BIG BREAKING : नाव पर भोजन बनाते समय सिलिंडर में हुआ जबरदस्त विस्फोट, 5 मजदूरों की मौत, कई घायल

मनेर (पटना)। बिहार की राजधानी पटना ग्रामीण के मनेर गंगा घाट पर एक नाव में ब्लास्ट होने से उसमें सवार 5 लोगों की मौत हो गई है। ये ब्लास्ट नाव में गैस सिलेंडर फटने से हुआ है। घटना में कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बतायाजा रहा है कि ये लोग नाव पर खाना बनाते थे।

पटना के नजदीक सोन नदी में एक बड़ी नाव पर खाना बनाने के दौरान सिलेंडर में विस्फोट हो जाने से 5 मजदूरों की मौत हो गई। हादसे में जले मजदूरों के शवों को पहचानना मुश्‍क‍िल हो रहा है। हालांक‍ि घटनास्‍थल पर मौजूद अन्‍य नावों में तैनात मजदूरों की सहायता से मृतकों की पहचान हो गई है। मरने वालों में एक झारखंड का जबकि शेष स्‍थानीय निवासी हैं। घटनास्‍थल से थोड़ी ही दूरी पर सोन नदी गंगा से मिलती है। यह घटना शनिवार को मनेर के रामपुर दियारा में हुई।

अवैध बालू खनन में लगे थे मजदूर

बता दें कि नदी में अवैध तरीके से बालू के खनन में यहां बड़ी संख्या में मजदूरों को लगाया गया है। बालू खनन में लगी बड़ी-बड़ी नावों पर मजदूरों के रहने-खाने का भी इंतजाम रहता है। मजदूर नावों पर गैस चूल्‍हा इस्‍तेमाल कर खाना बनाते और खाते हैं। शनिवार को ऐसी ही एक नाव पर खाना बनाने के क्रम में आग लग गई। इसके बाद सिलेंडर फट गया। इस हादसे में नाव पर मौजूद मजदूर जिंदा जल गए। नाव पर जले शवों की बहुत ही भयावह तस्‍वीरें सामने आई हैं।

घटना के बाद नदी के घाट पर अफरा तफरी मच गई। अवैध बालू खनन में लगी दूसरी नावों पर सवार मजदूर भी सहम गए। सूचना पर पहुंची मनेर पुलिस शव को बरामद करने के लिए जुटी रही।

मजदूरों की मौत की अनेक घटनाएं

अवैध बालू खनन में लगे मजदूर अक्‍सर अपनी जान गंवाते रहते हैं। कभी नाव टकराने के बाद तो कभी डूबकर। बालू के धंधेबाज कई बार इसकी खबर तक प्रशासन को लगने नहीं देते। दबंग धंधेबाज मजदूरों के स्‍वजनों को कुछ रुपए ले-देकर मामला रफा-दफा कर देते हैं। यह हादसा जहां हुआ, वहां से थोड़ी ही दूरी पर गंगा और सोन नदियों का मिलन होता है।

मरने वालों में एक झारखंड का रहने वाला

मृतकों की पहचान रंजन पासवान (32) पिता श्रीराम पासवान, दशरथ पासवान (32) पिता स्वर्गीय प्रभु पासवान, ओमप्रकाश राय (34) पिता रविन्द्र राय सभी हल्दी छपरा मनेर एवं कन्हाई बिंद (40) साहेबगंज शोभनपुर, झारखंड के रूप में हुई है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button