टीआरपी डेस्क। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आखिरकार भाजपा में शामिल हो ही गए। उन्होंने अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का भाजपा में विलय कर दिया है।

कैप्टन के साथ ही कई अन्य नेताओं को कमल का साथ ही पसंद आया है। आपको बता दें कि पंजाब में उनकी पार्टी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाई थी।

दिल्ली में ली भाजपा की सदस्यता

कैप्टन ने दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर और किरेन रिजिजू, सुनील जाखड़ और पंजाब चीफ अश्वनी शर्मा की मौजूदगी में भाजपा की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण की।

कांग्रेस से अलग होकर बनाई अपनी पार्टी

गौरतलब है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 से पहले ही कांग्रेस से अलग हुए थे। कैप्टन ने कांग्रेस से किनारा कर पंजाब लोक कांग्रेस का गठन किया था। चुनावों के दौरान उनकी पार्टी ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया था। उस समय उनके बेटे रणइंद्र सिंह ने ही भाजपा के साथ तालमेल कर टिकटों की बांटवारे में अहम भूमिका अदा की थी मगर पंजाब में आप की आंधी के सामने कैप्टन की पार्टी टिक नहीं सकी।