0 धर्मजीत बोले भाजपा में जाना होगा तो खुलेआम जाऊंगा, अमित जोगी ने पत्नी और उनके साथ सागौन बंगले में किया अभद्र व्यव्हार इसलिए मोह भंग

विशेष संवादाता, रायपुर
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ से निष्कासित विधायक धर्मजीत सिंह मीडिया के सामने आकर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि अमित जोगी ने मेरी पत्नी से दुर्व्यव्हार किया, कुकृत्य छिपाने के लिए यह कार्रवाई की,अब मुझ पर कातिलाना हमला होंगे और मेरी भी हत्या होने की संभावना है।
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जकांछ) की कोर कमेटी ने विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह को पार्टी से निष्कासित होने के बाद सोमवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरोप लगाया कि पार्टी के नेता अमित जोगी ने उनकी पत्नी के साथ दुर्व्यव्हार किया। अपने कुकृत्य को छिपाने के लिए अमित जोगी और उनकी मां पार्टी की अध्यक्ष डॉ रेणु जोगी ने मुझे निष्कासित किया है। धर्मजीत सिंह ने कहा कि मैं कोई भी काम चोरी चोरी चुपके चुपके नहीं करता। यदि मुझे भाजपा में जाना होगा तो मैं खुलेआम जाऊंगा। फिलहाल मेरा अभी कहीं जाने का इरादा नहीं है। धर्मजीत ने कहा कि यह सब संस्कार की बात है। किसी की पत्नी के साथ बदतमीजी करना कोई बर्दाश्त नहीं करेगा। मैं अपनी विधायकी 100 बार छोड़ दूंगा। मगर पत्नी के साथ दुर्व्यव्हार को सहन नहीं करूंगा। धर्मजीत सिंह ने कहा अपमान की जिंदगी जीने से बेहतर है सम्मान की मौत मर जाऊं मैं वही करूंगा। धर्मजीत सिंह ने कहा, अब मुझ पर कातिलाना हमला होंगे और मेरी भी हत्या होने की संभावना है।
जोगी कांग्रेस के एक और विधायक प्रमोद शर्मा पार्टी के खिलाफ मुखर हो गए हैं। उन्होने दो टूक कह दिया है कि धर्मजीत सिंह के साथ जिस प्रकार का बर्ताव अमित जोगी और रेणु जोगी ने किया है वे दुखी है,वे धर्मजीत सिंह के साथ हैं यदि चाहें तो उन्हे भी पार्टी से निकाल सकते हैं। इधर चार धर्मजीत सिंह समर्थकों को भी बाहर का रास्त दिखा दिया गया है। डॉ. रेणु जोगी और अमित जोगी ने रविवार रात विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात में बदलाव की जानकारी दे दी है। बलौदाबाजार से जकांछ विधायक प्रमोद शर्मा ने कहा, मुझे तो मीडिया से पता चला कि हमारे विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह को छह साल के लिए पार्टी से निकाल दिया गया है। इस खबर से मैं बहुत दुखी हूं। बिना बैठक के, बिना किसी की सहमति के इस प्रकार का निर्णय लेना बहुत ही गलत है। प्रमोद शर्मा ने कहा, मैं पूरी तरीके से धर्मजीत सिंह के साथ में हूं। अमित जोगी जो बाथरूम में बैठकर इस प्रकार का फैसला ले रहे हैं, वह नाजायज है। गलत है। मैं इसका विरोध करता हूं। अगर पार्टी मुझको भी निकालना चाहती है तो निकाल सकती है। वह स्वतंत्र है।
प्रमोद शर्मा ने दोहराया कि वे धर्मजीत सिंह के साथ हैं और साथ ही रहेंगे। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के कोर ग्रुप ने रविवार देर शाम पार्टी विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह को निष्कासित कर दिया था। पार्टी की केंद्रीय अध्यक्ष डॉ. रेणु जोगी को उनकी जगह पर विधायक दल का नेता चुना गया। पार्टी सूत्रों का कहना था, धर्मजीत सिंह और प्रमोद शर्मा मिलकर पार्टी का भाजपा के साथ विलय की कोशिश में थे। इसको रोकने के लिए पार्टी ने यह कदम उठाया है। फिलहाल घोषित रूप से धर्मजीत सिंह पर एससी, एसटी, ओबीसी समुदाय की अनदेखी और पार्टी के मूल सिद्धांतों के खिलाफ काम करने का आरोप लगाया गया।

लोरमी के 4 और समर्थक पार्टी से आउट


जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश महामंत्री प्रशासन महेश देवांगन ने चार पदाधिकारियों को 6 साल तक के लिए निष्कासित करने का आदेश जारी किया है। इसमें लोरमी के ब्लॉक अध्यक्ष राकेश छाबड़ा भी शामिल हैं। छाबड़ा वहां विधायक धर्मजीत सिंह के प्रतिनिधि भी हैं। लोरमी नगर पंचायत की अध्यक्ष अंकिता शुक्ला, उनके पति रवि शुक्ला और पार्षद सीमांत दास को भी पार्टी से निकाल दिया गया है। राकेश छाबड़ा पर 2020 में डीएवी स्कूल में घुसकर पीटी शिक्षक से मारपीट का आरोप है। उस समय साहू समाज उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर सड़कों पर उतरा था।