0 किया दावा टेम्पर ऑडियो में गुलाटी और किसी यादव की आवाज़, दर्जनभर केबल, शराब और होटल कारोबारी पर लगाया साज़िश का आरोप

विशेष संवादाता, रायपुर
प्रदेश के 80 फीसदी केबल कारोबार के मालिक और ग्रैण्ड विजऩ के चेयरमेन गुरूचरण सिंह होरा ने उनकी छवि को धूमिल करने की साज़िश बताया है। कथित वायरल ऑडियो-वीडियो को टेम्परिंग बताते हुए दुर्ग व बिलासपुर संभाग के दर्जनभर नामचीन लोगों के खिलाफ पुलिस में नामजद शिकायत भी दर्ज करने की बात कही हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में श्री होरा ने मिडिया को बताया कि वायरल वीडियो भिलाई के जी सुरेश बाबे ने वायरल करवाया है। बता दें कि पूर्व में भी बाब्बे के खिलाफ व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा के चलते मामला दर्ज करवाया गया था। इसके अलावा श्री होरा ने इस संबंध में लगभग दर्जन भर लोगों के खिलाफ एसएसपी से लिखित शिकायत की है। होरा ने सोशल मीडिया में कूटरचित ऑडियो, वीडियो से भ्रामक संदेश प्रसारित करने वालों के खिलाफ जल्द ही मानहानि का दावा करने की जानकारी मीडिया को दी है।


श्री होरा ने इस संबंध में लगभग दर्जन भर लोगों के खिलाफ एसएसपी से लिखित शिकायत की है। होरा ने सोशल मीडिया में कूटरचित ऑडियो, वीडियो से भ्रामक संदेश प्रसारित करने वालों के खिलाफ जल्द ही मानहानि का दावा करने की जानकारी मीडिया को दी। उन्होंने बताया कि उनके स्वामित्व वाले ग्रैण्ड विजऩ का प्रसारण राजधानी समेत प्रदेश के कई शहरों में किया जाता है। कुछ समय पूर्व उन्होंने केबल व्यवसाय से जुड़े राजू पंजारिया, जयपाल सिंह उर्फ विक्की गुलाटी, कमलेश यादव, अशोक शर्मा, बृजेश यादव, उदय प्रताप सिंह, अरविंद सिंह गुलाटी, अशोक अग्रवाल, अभिषेक अग्रवाल और जी सुरेश बाबे के अपराधिक कृत्य की शिकायत थाने में की थी। उसी समय से ये सभी लेाग मुझसे रंजिश रखे हुए थे। इसी का बदला लेने के उद्देश्य से इन लोगों ने मेरी आवाज़ को इलेक्ट्रॉनिक अभिलेख में छेड़छाड़ कर दुर्भावनापूर्ण तरीके से टेम्परिंग करते हुए इसे सोशल मीडिया में वायरल कर मुझे और प्रदेश के प्रतिष्ठित जनप्रतिनिधि व अधिकारियों को बदनाम करने का प्रयास किया है।
बता दें कि कथित तौर पर ऑडियो, वीडियो में गुरुचरण होरा किसी को फोन पर धमकी भरे लहज़े में अपने रसूख और प्रदेश के मुखिया से लेकर कांग्रेस के दिग्गज विधायकों-मंत्री समेत आरएसएस प्रमुख तक का नाम का उल्लेख करते बताये गए हैं। इतना ही नहीं कथित वायरल ऑडियो, वीडियो में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियो से लेकर जहां जरुरत पड़ती है वहां बाहुबल के प्रयोग से भी नहीं चुकने का दावा करते बताये गए हैं। गुरुचरण ने दावा भी किया है कि उनकी आवाज़ नहीं है लेकिन ऑडियो, वीडियो में गुलाटी-यादव की आवाज़ को वो पहचानते हैं और किसी भी स्टार की जाँच के लिए तैयार हैं।