रायपुर। छत्तीसगढ़ में अब सिस्टम कमजोर हो चला है। मौसम विभाग ने अब कुछ ही स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई है। दरअसल यह सब इसलिए हैं क्यों कि दक्षिण-पश्चिम मानसून की राजस्थान से वापसी शुरू हो गई है।

मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मानसून की विदाई दक्षिण-पश्चिम राजस्थान और उससे लगे क्षेत्र से 20 सितंबर को ही शुरू हो गई है। मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि स्थानीय परिस्थितियों की वजह से इस बार वापसी की रफ्तार धीमी है। इसकी वजह से लौटता हुआ मानसून पांच अक्टूबर को छत्तीसगढ़ की सीमा में पहुंचेगा। उसके बाद अगले 10 दिनों में धीरे-धीरे पीछे हटता हुआ बाहर निकल जाएगा।

इस मौसमी तंत्र के प्रभाव से 21 सितंबर को प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ वज्रपात होने तथा भारी वर्षा भी होने की भी संभावना बन रही है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यतः मध्य छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है।