विशेष संवादाता, रायपुर

कर अपवंचन की जानकारी के बाद आयकर विभाग की संयुक्त टीम ने छत्तीसगढ़ के आधा दर्जन जिलों में 46 ठिकानों पर दबिश दी है। कोयला, रियाल स्टील, पॉलिटिकल हवाला, स्टील और ट्रांसपोर्टर से लेकर कपडा कारोबारियों को जांच घेरे में लिया है। सभी कारोबारियों के घर, दफ्तर और कारखानों में लेनदेन संबंधी दस्तावेजों और हार्ड डिस्क की पतासाजी की जा रही है। इसमें सबसे चौंकाने वाला खुलासा जिला सक्ती से आ रहा है।

सक्ती शहर मे आयकर विभाग की टीम ने पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष सहित 6 लोगों के यहां छापा मारा है। आयकर विभाग की टीम इन सबसे पूछताछ कर रही है। जानकारी के अनुसार सक्ती में पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष कांग्रेस नेता श्यामसुंदर अग्रवाल, सक्ती विधायक प्रतिनिधि कांग्रेस नेता आनंद अग्रवाल, अनुराग कपड़ा दुकान के संचालक कमलेश अग्रवाल, स्टांप वेंडर जगदीश बंसल, प्रियंका मोबाइल दुकान के संचालक राहुल अग्रवाल के यहां छापा मारा है।फिलहाल आयकर विभाग की टीम इन सब से पूछताछ कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक सक्ती के 6 में से 3 कारोबारी ऐसे हैं जिनका दिखने वाला धंधा कोयला, मोटर पार्ट्स, कपडा है, लेकिन इसकी आड़ में अवैध कारोबार और इसी के जरिये हवाला करना भी है। इसमें कितनी सच्चाई है यह तो आईटी की जांच में दस्तावेजों की स्क्रूटनी के बाद सामने आएगी। परंतु वर्षों से सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों से उक्त कारोबारियों के खास रिश्ते होने की खबर है।

पहली बार सक्ती में आईटी की बड़ी कार्रवाई

यह पहला वाक्या है जब सक्ती जैसे छोटे जिले में आयकर विभाग की सतर्कता टीम ने इतनी बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। अब तक सिर्फ एक दो बार आईटी की सर्वे टीम ही पहुंची थी। लेकिन इस बार एक साथ आधा दर्जन कारोबारियों को टारगेट में लिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक कपड़ों की दुकान, मोटर पार्ट्स, जमीन के बाद कोयला तथा ट्रांसपोर्ट की आड़ में राजनेताओं से रिश्ते व पैसों का हवाला और सट्टे के बेताज बादशाह चलाते रहे हैं।