नेशनल डेस्क। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्याकांड के छह दोषियों को शनिवार शाम तमिलानाडु की अलग-अलग जेलों से रिहा किया गया। इनमें नलिनी श्रीहरन, उसके पति वी श्रीहरन के अलावा संथन, रॉबर्ट पायस, जयकुमार और रविचंद्रन शामिल हैं। इनमें श्रीहरन और संथन श्रीलंका के नागरिक हैं।

नलिनी पैरोल पर थी। उसने शनिवार को वेल्लोर में महिला जेल पहुंचकर अपनी रिहाई की कार्रवाई पूरी की। इसके बाद वो वेल्लोर सेंट्रल जेल पहुंची, जहां वो पति श्रीहरन को देखकर भावुक हो गई। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सभी दोषियों को रिहा करने का आदेश दिया था। कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद उन्हें शनिवार को जेल से छोड़ा गया।

मां की देखभाल के लिए पैरोल पर थी नलिनी

नलिनी को दिसंबर 2021 में अपनी मां पद्मावती की देखभाल के लिए एक महीने की पैरोल दी गई थी, जिसे राज्य सरकार समय-समय पर बढ़ाती रही। रिहाई के बाद नलिनी ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि हमारा परिवार बहुत खुश है, मैं अपनों के साथ नया जीवन शुरू करने जा रही हूं। इससे पहले कोर्ट ने इस साल 18 मई को मामले के दोषी​​​ पेरारिवलन को रिहा कर दिया था। पेरारिवलन सहित सभी दोषी मामले में 31 साल उम्रकैद की सजा काट चुका है।