नई दिल्ली। उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी का गुलाम कश्मीर को लेकर बड़ा बयान आया है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना पीओके को वापस लेने जैसे आदेशों को पूरा करने के लिए तैयार है। ज्ञात हो क‍ि केंद्रीय मंत्री अमित शाह और राजनाथ कई बार कह चुके हैं क‍ि गुलाम कश्मीर भारत का हिस्‍सा है, हम इसे लेकर रहेंगे। इस बारे में भारत की संसद में प्रस्‍ताव पारित हो चुका है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का गुलाम कश्मीर वापस लेने का बयान पर उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने कहा क‍ि जहां तक भारतीय सेना का संबंध है, वह भारत सरकार द्वारा दिए गए किसी भी आदेश को पूरा करेगी। जब भी इस तरह के आदेश दिए जाएंगे, हम इसके लिए हमेशा तैयार रहेंगे।

युद्ध विराम को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच समझौते पर उत्तरी सेना के कमांडर उपेंद्र द्विवेदी ने कहा क‍ि सेना हमेशा यह सुनिश्चित करने के लिए तैयार है कि दोनों देशों के बीच युद्धविराम का समझौता कभी न टूटे क्योंकि यह दोनों देशों के हित में है। लेकिन अगर कभी भी टूटा तो हम उन्हें करारा जवाब देंगे।

उन्होंने आगे कहा क‍ि सीमा पार लॉन्चपैड पर लगभग 160 आतंकी बैठे हैं जिनमें पीर पंजाल के 130 उत्तर और पीर पंजाल के दक्षिण में 30 हैं। पूरे भीतरी इलाकों में कुल 82 पाकिस्तानी आतंकवादी और 53 स्थानीय आतंकवादी बैठे हैं। चिंताजनक यह है कि लगभग 170 अज्ञात आतंकी सेना के पास सूचीबद्ध हैं, जिन्हें आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने का काम सौंपा गया है।

अनुच्छेद-370 निरस्त होने के बाद सुरक्षा स्थिति के बारे में जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने कहा कि सुरक्षा परिदृश्य में पांच अगस्त, 2019 के बाद एक बड़ा बदलाव देखा गया है। उन्होंने कहा कि शांति और विकास को गति मिली है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकी हथियारों की कमी का सामना कर रहे हैं और पड़ोसी देश पिस्तौल, ग्रेनेड और ड्रग्स की खेप भेज रहा है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर