nirmala_sitharaman
nirmala_sitharaman

नेशनल डेस्क। लोकसभा चुनाव के लिए कुछ ही दिन शेष रह गए है। इसी बीच केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चुनाव लड़ने के भाजपा के प्रस्ताव को यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया कि उनके पास लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए आवश्यक ‘उस तरह का फंड’ नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन्हें आंध्र प्रदेश या तमिलनाडु से चुनाव लड़ने का विकल्प दिया।

आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु से चुनाव लड़ने का सीतारमण को मिला था विकल्प

मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि एक हफ्ते या दस दिनों तक सोचने के बाद, मैं यह कहने के लिए वापस गई, ‘शायद नहीं’। मेरे पास चुनाव लड़ने के लिए उस तरह का पैसा नहीं है। मुझे भी एक समस्या है चाहे वह आंध्र प्रदेश हो या तमिलनाडु। यह भी होने वाला है यह उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले विभिन्न अन्य जीतने योग्य मानदंडों का प्रश्न है… क्या आप इस समुदाय से हैं या आप उस धर्म से हैं? क्या आप इस से हैं? मैंने कहा नहीं, मुझे नहीं लगता कि मैं ऐसा करने में सक्षम हूं।”

वित्त मंत्री बोली- भारत की संचित निधि उनकी नहीं है

उन्होंने कहा, “मैं बहुत आभारी हूं कि उन्होंने मेरी दलील स्वीकार कर ली… इसलिए मैं चुनाव नहीं लड़ रही हूं।” जब उनसे पूछा गया कि देश की वित्त मंत्री के पास चुनाव लड़ने के लिए पर्याप्त फंड क्यों नहीं है तो उन्होंने कहा कि भारत की संचित निधि उनकी नहीं है।

निर्मला सीतारमण ने कहा, “मेरा वेतन, मेरी कमाई और मेरी बचत मेरी है, भारत की संचित निधि नहीं।” सत्तारूढ़ भाजपा ने 19 अप्रैल से शुरू होने वाले आगामी लोकसभा चुनावों में कई मौजूदा राज्यसभा सदस्यों को मैदान में उतारा है। इनमें पीयूष गोयल, भूपेन्द्र यादव, राजीव चन्द्रशेखर, मनसुख मंडाविया और ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल हैं। सुश्री सीतारमण कर्नाटक से राज्यसभा सदस्य हैं।

मंत्री ने कहा कि वह अन्य उम्मीदवारों के लिए प्रचार करेंगी। उन्होंने कहा, “मैं कई मीडिया कार्यक्रमों में भाग लूंगी और उम्मीदवारों के साथ जाऊंगी – जैसे कल मैं राजीव चंद्रशेखर के प्रचार के लिए जाऊंगी। मैं प्रचार अभियान में रहूंगी।”

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू
 पर

Trusted by https://ethereumcode.net