बीजापुर। छत्तीसगढ़ के नक्सली जिलों में जारी नक्सलियों के आतंक के बीच बीजापुर में नक्सल संगठन को छोडक़र 30 नक्सलियों ने डीआईजी सीआरपीएफ और एसपी बीजापुर के समक्ष आत्मसमर्पण किया है।

बता दें आत्मसमर्पण करने वाले 9 नक्सलियों पर कुल 39 लाख का ईनाम था, बताया जा रहा है कि जनवरी से लेकर अब तक 2024 में बीजापुर में कुल 180 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि 76 नक्सलियों ने माओवादी संगठन को छोडक़र मुख्य धारा में लौटे है, समर्पण किया है।

बीजापुर मिलिट्री कंपनी नम्बर 02 के पीपीसीएम, प्लाटून नम्बर 32 के पीपीएसएम, पीएलजीए बटालियन नम्बर 01 के सदस्य, प्लाटून नम्बर 4 के सदस्य, जनतानार सरकार अध्यक्ष, डीएकेएएमएस अध्यक्ष सहित 30 माओवादियों ने पुलिस के समक्ष समर्पण किया।

मिटकी ककेम ऊर्फ सरिता पिता सन्नू ईनाम -8.00 लाख, मुरी मुहंदा ऊर्फ सुखमति ऊर्फ मनकी ईनाम -8.00 लाख, रजिता वेट्टी ऊर्फ रामे ईनाम 5.00 लाख, देवे कोवासी पिता लच्छु ईनाम 5.00 लाख, सीनू पदम ऊर्फ चिन्ना 5 लाख का ईनाम, आयता सोढ़ी ईनाम 5.00 लाख, आयतु कारम ईनाम 1 लाख, मुन्ना हेमला ईनाम 1 लाख, आयतु मिडिय़म ऊर्फ वर्गेश ईनाम 1 लाख, सन्नू कारम ऊर्फ डोरा, बामन कारम, सुखराम कारम, मनकू ताती, मुन्ना पोटाम ऊर्फ मुकेश , सन्तू हेमला , राहूल हेमला ऊर्फ छोटू, सुखराम ऊर्फ सुरेश कारम, मोटू हेमला, मोटू कवासी, रमेश हेमला, लक्खू कोरसा, नंदु कुरसम, सोमलू कड़ती ऊर्फ दिवाकर, सोमलू ताती, संतोष पदम, गुडडी हपका, ज्योति लेकाम, सोनू कुडिय़म, राजेश कोरसा, लखमू पल्लो ऊर्फ लखू शामिल है।

Trusted by https://ethereumcode.net