रायपुर। सोमवार को जिला मुख्यालय बलौदाबाजार स्थित संयुक्त जिला कार्यालय में की गई तोड़फोड़ एवं आगजनी करने वाले उपद्रवी की प्रशासन ने पहचान कर ली है। इसके साथ ही प्रशासन ने उपद्रव के लिए जिम्मेदार संगठनों के पदाधिकारियों के नामों की सूची भी जारी कर दी गई है।

उल्लेखनीय है कि, सोमवार को वहां सतनामी समाज के प्रदर्शन के दौरान आगजनी और तोड़फोड़ में करोड़ों का नुकसान हुआ है। प्रशासन की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि, नुकसान का आकलन किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि, नुकसान की वसूली भी इन्हीं उपद्रवियों से की जा सकती है।

पुलिस बल के साथ मजिस्ट्रेट भी थे सुरक्षा प्रबंध के लिए थे मौजूद

प्रशासन की तरफ से आए बयान में कहा गया है कि, 10 जून को छत्तीसगढ़ सतनामी समाज के द्वारा अमर गुफा गिरौधपुरी जैतखाम मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग एवं साथ में पूर्व में बोडसरा, कबीरधाम एवं अन्य जिलों में सतनामी समाज संबंधी विभिन्न मुद्दो को लेकर दशहरा मैदान बलौदाबाजार में धरना प्रदर्शन आयोजित किया गया था। इसमें सुरक्षा प्रबंध के लिए पर्याप्त संख्या में पुलिस बल लगाने के साथ मजिस्ट्रियल ड्यूटी भी आदेशित किया गया था।

ये थे प्रदर्शन के आयोजक

आयोजनकर्ता किशोर नवरंगे भीम कांतीवीर अध्यक्ष, दीपक घृतलहरे प्रगतिशील सतनामी समाज, मोहन बंजारे प्रगतिशील सतनामी समाज युवा प्रदेश अध्यक्ष, सुशील बंजारे प्रगतिशील सतनामी समाज युवा प्रकोष्ट, जितेन्द्र नौरंगे सतनाम सेवा समिती जिला अध्यक्ष, ओमप्रकाश खुंटे सतनामी समाज वरिष्ठ, भुनेश्वर डहरिया, दिनेश चतुर्वेदी भीम रेजिमेंट प्रदेश अध्यक्ष आदि के नेतृत्व में शक्ति प्रदर्शन के रूप में आस पास पैदल रैली कर संयुक्त जिला कार्यालय का घेराव किये जाने योजना थी, जिसमें शासन द्वारा उच्चस्तरीय न्यायिक जांच का आश्वासन दिये जाने के पश्चात भी उनके द्वारा धरना प्रदर्शन स्थगित नहीं किया गया।

ज्ञापन देने की समझाइश अनसुना कर आगे निकल गये प्रदर्शनकारी

छत्तीसगढ़ स्तरीय सतनामी समाज के लोग विभिन्न जिलों से आकर दशहरा मैदान बलौदाबाजार में करीबन 07-08 हजार की संख्या में इकट्ठा हुए। इसके बाद प्रदर्शन में सम्मिलित प्रमुख व्‍यक्तियों से गार्डन चौक में ज्ञापन देने की समझाइश दी गई, लेकिन इनके द्वारा उक्त समझाइश को अस्वीकार कर दिया गया। प्रदर्शन में आई भीड़ ने 02.45 बजे रैली के रूप में नारेबाजी करते हुए आगे निकल गये, जिससे पहला बैरिकेट गार्डन चौक पास लगाया गया था। जहां पर बैरिकेटिंग को तोड़ फोड़ कर आगे निकल गये। इसके बाद संपूर्ण रैली नेतृत्वविहीन होकर, सुनियोजित तरीके से नारेबाजी करते हुए चक्रपाणी स्कूल के पास जहां पर बड़ी बैरिकेटिंग लगाया गया था वहां पहुंचकर ड्यूटी में लगे पुलिस अधिकारी कर्मचारियों से काफी धक्का मुक्की, लाठी डण्डे से मारकर गंभीर चोट पहुंचाया गया व बैरिकेट को तोड़कर पथराव करते हुये आगे बढ गया।

आग लगाने के लिए पेट्रोल-डीजल का इस्तेमाल

पुलिस द्वारा काफी रोकने की कोशिश की गई लेकिन भीड़ उग्र रूप धारण कर पास में खड़ी फायर ब्रिगेड के उपर चढ़कर तोड़ फोड़ कर अपने साथ लाये पेट्रोल डीजल से आग लगाते हुए आगे निकल गये। संयुक्त कलेक्ट्रेट कार्यालय के पास उपद्रवीयों द्वारा हिंसक रूप धारणकर पत्थर बाजी कर लाठी डण्डा से पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को मारकर चोट पहुंचाते हुए संयुक्त कलेक्ट्रेड परिसर में खडी शासकीय, प्रायवेट लगभग 100 मोटर सायकल एवं 30 से अधिक चारपहिया वाहनों में तोडफोड कर आग लगा दिया गया। साथ ही उपद्रवीयों द्वारा संयुक्त कार्यालय भवन के पुलिस कार्यालय में भी आग लगा दिया, जिससे पुलिस कार्यालय के रिकार्ड जल गया है। संयुक्त कार्यालय भवन को आग लगाने के बाद तहसील कार्यालय में खड़ी गाडियां एवं शहर के मुख्य मार्ग में लगे डिवाईडर को तोड़फोट कर नुकसान किया गया है।

शहर के CCTV कैमरे तोड़े गए

सिटी सर्विलांस में लगे शहर के रोड में सी.सी.टी.वी कैमरे को तोड़ दिया गया है। तोडफोड करने में भीम आर्मी, भीम रेजिमेंट एवं भीम कांतीवीर सेना के कार्यकर्ता, पदाधिकारियों के द्वारा उत्पात मचाया गया है। इन लोगो द्वारा किये गये उत्पात में जिला बलौदाबाजार-भाटापारा एवं अन्य जिलों से आये हुए 25 से अधिक पुलिस अधिकारी कर्मचारी एवं प्रशासनिक अधिकारी काफी गंभीर रूप से घायल है, जिनका ईलाज जारी है। उपद्रवियों द्वारा किये गये तोडफोड, आगजनी आदि का आंकलन लगाया जा रहा है।

Trusted by https://ethereumcode.net