Overview:

1884 वोटों से हारने वाले कांग्रेस प्रत्याशी बिरेश ठाकुर ने जिला निर्वाचन कार्यालय में आवेदन किया है। चुनाव आयोग की तय फीस भी जमा कर दी है। बालोद के दो, सिहावा और गुंडरदेही के एक-एक मतदान केन्द्र में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए मांग की है।

रायपुर। लोकसभा चुनाव के रिजल्ट के बाद कांकेर लोकसभा क्षेत्र में मतगणना को बवाल थम नहीं रहा है। कांकेर के 3 विधानसभा क्षेत्र के 4 मतदान केन्द्रों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए दोबारा मतगणना की मांग कांग्रेस प्रत्याशी बिरेश ठाकुर ने की है। भाजपा के भोजराज नाग ने बिरेश ठाकुर को 1884 वोटों से हराया है। इसके बाद से इस हार को कांग्रेस प्रत्याशी स्वीकारने को तैयार नहीं है। इस वजह से उन्होंने केन्द्रीय चुनाव आयोग के निर्देश के तहत अपना संदेह जताते हुए आवेदन किया है। कांग्रेस प्रत्याशी ने नियम के तहत जीएसटी सहित एक लाख 80 हजार रुपए जमा कर दिया है। बिरेश ठाकुर ने खुद इस बात की पुष्टि टीआरपी से की है।

बिरेश ठाकुर ने बताया कि जिला निर्वाचन अधिकारी कांकेर को 10 जून को एक आवेदन दिया। बालोद विधानसभा क्षेत्र के दो, नगरी सिहावा विधानसभा क्षेत्र और गुंडरदेही के एक-एक मतदान केन्द्र में गड़बड़ी की गई है। इसमें फिर से मतगणना की मांग की गई है।

जानकारी के अनुसार जिला निर्वाचन अधिकारी कांकेर नियमानुसार प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के जरिए से केंद्रीय चुनाव आयुक्त के पास आवेदन भेजा जाएगा। वहां से अनुमति मिलते ही इसकी गणना हो सकती है। अनुमति मिलने पर एक दल बनाया जाएगा, जिसकी जिम्मेदारी पुनर्गणना कराने की होगी। पुनर्गणना के बाद अगर परिणाम में बदलाव होता है या आवेदन करने वाले प्रत्याशी के मत बढ़ते हैं तो परिणाम प्रभावित होने से जमा की गई रकम वापस मिल जाती है। 15 दिनों के भीतर आवेदन पर अंतिम निर्णय लेने का प्रावधान है। अंतिम निर्णय तक ईवीएम सुरक्षित रखी जाएगी। उसमें किसी भी तरह की छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है।

Trusted by https://ethereumcode.net