एसईसीएल कर्मचारियों को लेकर जा रही बस नदी में गिरी,1 की मौत,40 घायल

एसईसीएल कर्मचारियों को लेकर जा रही बस नदी में गिरी,1 की मौत,40 घायल

सूरजपुर/अंबिकापुर। सूरजपुर जिले के भटगांव स्थित एसईसीएल की काॅलोनियों से महान-2 और महान-3 कोल माइंस में बस में क्षमता से अधिक कर्मियों को ड्यूटी लेकर जा रही बस सुखड़ी नाला से 20 फीट नीचे नदी में गिर गई। बस में सवार 70 में से 8 कर्मचारियों को अपोलो अस्पताल बिलासपुर भेजा गया। वहीं 40 अन्य कर्मचारी जख्मी हुए हैं, जिनमें से 33 का इलाज अंबिकापुर के निजी अस्पताल में चल रहा है। इनमें पंप ऑपरेटर बसंत की अस्पताल में मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार रोजाना महान 2 व महान 3 कोल माइंस के कर्मचारी अलग-अलग बसों में सवार होकर सुबह की पाली में ड्यूटी जाते थे, लेकिन रविवार को एक ही 50 सीट वाली बस में 70 से अधिक कर्मचारियों को ड्यूटी के लिए भेजा जा रहा था। यह नदी करीब 50 मीटर चौड़ी है और बारिश की वजह से इसमें बहाव भी काफी तेज है। बनारस मार्ग पर सोनगरा होते ग्राम बोझा व खड़गवां के बीच स्थित सुखड़ी नाला पुलिया में बस अनियंत्रित होकर गिर गई।

ये कर्मचारी जख्मी

घायलों में राघवेंद्र पटेल, संतोष कुमार यादव, जय सिंह, सुभाष शर्मा, विपिन बिहारी मिश्रा, संतोष कुमार बरई, धर्मेंद्र सिंह, दूजराम बर्मन, उदयनाथ दुबे, अनिल सिंह, अजय द्विवेदी, राजनाथ, सियाराम, रेवती, सुनील, सूरज, बड़ो बाई, छत्रपाल प्रजापति, धर्मपाल सिंह, हंसाराम प्रधान, गुरु प्रसाद सिंह, मन्नू लाल उरांव, मनोहर, नसीम आलम, इंद्रसेन, विधानचंद्र राय, नागेंद्र सिह, खगेंद्र मंडल, मसरुद्दीन, उमेश कुमार मिश्रा, अमित तिवारी, अरविंद्र सिंह, रावेंद्र पटेल, रामकुमार, सुनील कुमार, केएल वाडेकर, रमाकांत पटेल, कैलाश गिरी, शशांक श्रीवास्तव, कादिर रसूल, कृष्णा देवांगन व शशिकांत शामिल हैं।

हादसे के कारण की कराएंगे जांच

प्रबंधन घायलों के इलाज और जान बचाने में जुटा है। स्थिति सामान्य होने पर जांच कराएंगे। अभी हादसा कैसे हुआ है, इसका पता नहीं चला है।
-सनिश चंद्रा, पीआरओ एसईसीएल बिलासपुर