Monday, January 17, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeTop Storiesनक्सलियों के खिलाफ ट्रेनिंग लेने वाले यहां भालुओं के आतंक से परेशान,...

नक्सलियों के खिलाफ ट्रेनिंग लेने वाले यहां भालुओं के आतंक से परेशान, पढ़ें ये खबर

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

बस्तर। बस्तर के कांकेर जिले में भालुओं का आतंक (Bear terror) नक्सलियों के खिलाफ ट्रेनिंग लेने वाले जवानों के लिए परेशानी का कारण बना हुआ है। देश का सबसे बड़ा ट्रेनिंग सेंटर जंगल वारफेयर कॉलेज इन दिनों भालुओं के आतंक (Bear terror) से दहशत में हैं। नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई की ट्रेनिंग देने वाले ट्रेंनिग सेंटर जंगल वॉरफेयर कॉलेज में भालुओं ने आतंक मचा रखा है। भालुओ का आतंक इस कदर बढ़ गया है कि वे अधिक से अधिक संख्या में कैम्पस में प्रवेश कर अचानक आक्रामक होकर जंगलवार की बिल्डिंगों में तोड़फोड़ कर जवानों पर हमला कर रहे हैं।

नक्सलियों के खिलाफ ट्रेनिंग लेने वाले यहां भालुओं के आतंक से परेशान, पढ़ें ये खबर
नक्सलियों के खिलाफ ट्रेनिंग लेने वाले यहां भालुओं के आतंक से परेशान, पढ़ें ये खबर

रसोई में घुसकर बर्तन, सामान और खाने में धावा

यही नहीं कॉलेज मेज, बिल्डिंग और दफ्तर (College desk, building and office) सहित हर जगह भालू दिखाई दे रहे हैं। जब जवान मेस में खाना खाने पहुँच रहें हैं तो वहां भी भालू दस्तक दे रहे हैं। भालुओं ने खुले में बनी रसोई में घुसकर बर्तन, सामान और खाने में धावा बोलने के साथ ही दफ्तर को भी अच्छा खासा नुकसान पहुंचाया हैं। कुछ दिनों पहले भी भालू ने एक जवान पर हमला कर उसे घायल कर दिया था।

अचानक से बढ़ी भालुओं की तादाद

वॉर फेयर कॉलेज के बिग्रेडियर बीके पोनवार (BK Ponwar) ने कहा है कि जंगलात में ही जंगल वॉर फेयर ट्रेनिंग की जाती है, अचानक भालुओं की तादाद इस क्षेत्र में बढ़ जाने से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मामले की सूचना हमनें वन विभाग (Forest departmen) को दे दी है। साथ ही इसका जल्द उपाय निकालने को कहा गया है, ताकि काउंटर नक्सल ऑपरेशन (Counter naxal operation) के प्रशिक्षण में कोई दिक्कत ना आए।

वन विभाग (Forest departmen) ने इन भालुओं को पकड़ने के लिये काफी मशक्कत भी की। विभाग ने दो पिंजरे लगाकर उसमें शहद, तेल और खाना रखा ताकि भालू पकड़ में आ जाए। हालाँकि भालू पकड़ में तो नहीं आये, लेकिन खाना जरूर चट कर गए। फ़िलहाल भालुओं को पकड़ने की कोशिश जारी है, ताकि बिना तकलीफ के जंगल वॉरफेयर कॉलेज (Jungle Warfare College) में जवानों को जंगली इलाकों में नक्सलियों से लड़ने का प्रशिक्षण मिल सके।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें और Youtube  पर हमें subscribe करें। एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -CG Go Dhan Yojna

R.O :- 11682/ 53

Chhattisgarh Clean State

R.O :- 11664/78





Most Popular