कोरोना की तीसरी लहर! यहां संक्रमण के बाद 20 बच्चे अस्पताल में भर्ती

बस्तर में घटे तो बिलासपुर-रायपुर में बढ़े कोरोना के नए मामले, जांजगीर-चांपा में नहीं रुक रहा मौतों का सिलसिला

टीआरपी डेस्क। कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों के आकड़े जहां कम हो रहे थे। वहीं हाल ही में कुछ दिनों से लगातार पॉजिटिव रेट बढ़ता जा रहा है। इसी बीच पुडुचेरी में 20 बच्चों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की खबर सामने आ रही है। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें, इससे पहले नोएडा और गाजियाबाद में भी बच्चों में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए थे। जिसके बाद बच्चों पर तीसरी लहर के खतरे को लेकर आशंका बढ़ने लगी है।

यह भी पढ़े: संभावित तीसरी लहर: बच्चों पर खतरा देख एंबुलेंस से इलाज तक करें तैयारी, राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने आईसीएमआर और केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव को लिखा पत्र

पुडुचेरी में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण सेवा निदेशक एस मोहन कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि बच्चों को कादिरकामम में मौजूद इंदिरा गांधी सरकारी मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कुमार ने कहा कि बच्चों की उम्र के बारे में जानकारी इकट्ठी की जा रही है।

कोविड -19 स्थिति के कारण शैक्षणिक संस्थान स्थगित

बच्चों के संक्रमित पाए जाने और कोविड की स्थिति को ध्यान में रखते हुए पुडुचेरी के शिक्षा मंत्री ने कहा है कि सरकार ने पहले स्कूल और कॉलेज फिर से खोलने का फैसला किया था, लेकिन अब मौजूदा कोविड -19 स्थिति के कारण इसे स्थगित करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि हम बाद में शैक्षणिक संस्थान और कॉलेज खोलने का ऐलान करेंगे।

यह भी पढ़े: भारत में जल्द लगेगा 12 से 18 साल के बच्चों को कोरोना का टीका, इसी हफ्ते फैसला

नोएडा और गाजियाबाद में बच्चों के संक्रमण के मामले 

गौरतलब है कि ऐसा ही एक मामला नोएडा से आया था। जहां चाइल्ड PGI में चार साल के एक बच्चे को कोरोना संक्रमित होने के बाद भर्ती कराया गया है। बच्चे में लक्षण दिखने के बाद परिजनों ने जांच कराई तो कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। पहले उसे एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया था लेकिन बच्चे की हालत बिगड़ने लगी। जिसके बाद उसे सेक्टर-30 स्थित सुपर स्पेशियलिटी पीडियाट्रिक एंड पोस्ट ग्रेजुएट टीचिंग इंस्टीट्यूट में रेफर कर दिया गया। बच्चों में कोरोना संक्रमण के मामले को देखकर स्वास्थ्य विभाग भी सतर्क हो गया है।

यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़ में कोरोना की संभावित तीसरी लहर की चुनौतियों से निपटने की तैयारी, गर्भवती महिलाओं और बच्चों के इलाज के लिए विशेष व्यवस्था पर जोर

वहीं गाजियाबाद में भी 1 साल के बच्चे में कोरोना के लक्षण दिखने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। बच्चे को गाजियाबाद के संतोष मेडिकल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। डॉ. एनके गुप्ता ने बताया कि बच्चे का कोरोना टेस्ट कराया गया था जिसमें उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर