धनुष और शारंग तोप का लॉन्ग प्रूफ रेंज में सफलतापूर्वक परीक्षण

जबलपुर। जबलपुर गन कैरिज फैक्ट्री में तैयार की गई 155 एमएम 45 कैलिबर धनुष तोप का  लॉन्ग प्रूफ रेंज में पहली बार शक्ति परीक्षण हुआ। यह पहला मौका है जब धनुष तोप से जबलपुर में फायरिंग की गई। इससे पहले 21 जनवरी को गन कैरिज फैक्ट्री में ही तैयार की गई शारंग तोप का परीक्षण यहां किया गया था।

गन कैरिज फैक्ट्री जबलपुर में किया गया है निर्माण

इस अति महत्वपूर्ण परीक्षण के दौरान दिल्ली से डॉयरेक्टर जनरल ऑफ क्वालिटी एश्योरेंस लेफ्टिनेंट जनरल संजय चौहान मौजूद रहे। उनकी उपस्थिति में धनुष तोप और शारंग तोप का शक्ति परीक्षण किया गया। दोनों ही तोप 37 से 40 किलोमीटर के बीच निशाना साध सकती हैं। इनका निर्माण गन कैरिज फैक्ट्री जबलपुर में किया गया है। सुबह करीब 10:00 बजे से लॉन्ग प्रूफ रेंज खमरिया में परीक्षण शुरू हुआ।

पोखरण और बालासोर में होता रहा परीक्षण

धनुष तोप सेना के बेड़े में शामिल हो चुकी है। पूर्व में इस तोप का राजस्थान के पोखरण व उड़ीसा के बालासोर सहित अन्य स्थानों पर परीक्षण किया गया और पिछले साल छह तोप सेना के सुपुर्द की गई हैं, लेकिन यह पहला मौका था, जब जबलपुर में ही बनी इस तोप का परीक्षण उसी शहर में हुआ। इस महत्वपूर्ण मौके पर ऑडनेंस फैक्ट्री खमरिया व्हीकल फैक्ट्री जबलपुर और गन कैरिज फैक्ट्री के आला अधिकारी भी मौजूद रहे।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।