बाल-बाल बचे डॉ रमन सिंह, नक्सलियों के टारगेट में थी उनकी रैली, 60 किलो IED बरामद

 

रायपुर। दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव (Dantewada By Election) के दौरान डॉ रमन सिंह (Dr Raman Singh) और उनकी चुनावी रैली नक्सलियों के निशाने में थे। सुरक्षा बल के जवानों ने गाटम-मेटापाल के बीच 30-30 किलों के दो IED बरामद किए हैं। आपको बता दे कि ये वही क्षेत्र है जहां डॉ रमन सिंह (Former CM Dr Raman Singh) चुनावी रैली निकालना चाहते थे। किंतु सुरक्षा का हवाला देकर उन्हें चुनावी रैली की इजाजत नहीं दी गई थी।

गाटम-मेटापाल के बीच 60 किलो आईईडी बरामद

सुरक्षा बल के जवानों (Security Forces) द्वारा नक्सलियों की एक बड़ी साजिश (Plot) को नाकाम कर दिया गया है। गाटम-मेटापाल के बीच नक्सलियों का लगाया आईईडी (IED) पुलिस ने बरामद कर लिया है। आपको बता दें कि नक्सलियों ने 30-30 किलो के दो बम थोड़ी-थोड़ी दूर पर लगा रखे थे। जवानों को मुखबिर (Informer) से बम की सूचना मिली थी। जिसके बाद सर्चिंग पर निकले जवानों ने बम रिकवर किया। जवानों ने सफलतापूर्वक बम को डिफ्यूज (Diffuse) भी कर लिया है।

इसी क्षेत्र में रैली करना चाहते थे डॉ रमन सिंह

आपको बता दें कि चुनाव के दौरान बड़े नेता और जवान नक्सलियों के निशाने पर थे। पुलिस के पास इसे लेकर सूचना भी थी। इस वजह से इस इलाके में रैली और रोड शो की अनुमति नहीं दी गई थी। पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह दंतेवाड़ा उपचुनाव (Dantewada By Election) के दौरान मेटापाल इलाके में रैली करना चाहते थे। सुरक्षागत कारणों की वजह से उन्हें प्रशासन ने अनुमति नहीं दी थी। शनिवार को सर्चिंग के दौरान जवानों ने इसी इलाके से 30-30 किलो के दो बम बराम किए।

दहशत फैलाने की थी योजना 

सुरक्षा बल के जवानों को मुखबिर से बम की सूचना मिली थी। कटेकल्याण थाना क्षेत्र मेटापाल के पास नक्सलियों ने आईईडी लगाया था। बारिकी से पुल को खोदकर अंदर से वायर निकाला गया था। चुनाव के वक्त पुलिस ने यहीं अपनी चौकी बना ली थी। यही वजह थी कि नक्सली वारदात को अंजाम नहीं दे पाए।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें और Twitter पर Follow करें एक ही क्लिक में पढ़ें The Rural Press की सारी खबरें