‘अगर समझते देश के मन की बात, ऐसे न होते टीकाकरण के हालात’- राहुल गांधी

राहुल गांधी
Image Source :

टीआरपी डेस्क। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वैक्सीन की कमी और कोविड-19 टीकाकरण की गति को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि अगर देश के ‘मन की बात’ समझी गई होती तो टीकाकरण के ऐसे हालात न होते। उनकी टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम से ठीक पहले आई।

यह भी पढ़े: पेगासस मामला: राहुल गांधी ने गृहमंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा कहा- मेरा फोन टैप किया गया

बता दें, राहुल गांधी ने एक 45 सकेंड का वीडियो भी ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने अलग-अलग उन खबरों की क्लिपिंग को दिखाया है, जहां देश में वैक्सीन की कमी है। राहुल ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘अगर समझते देश के मन की बात ऐसे ना होते टीकाकरण के हालात।’

यह भी पढ़े: राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा- सब याद रखा जाएगा

हालांकि इससे पहले राहुल ने शनिवार को भी केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उसने टीकाकरण पूरा होने को लेकर कोई समयसीमा तय नहीं की है और ये ‘रीढ़ की हड्डी’ नहीं होने की मिसाल है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘लोगों के जीवन का सवाल है और सरकार कोई समयसीमा नहीं मानती. यह रीढ़ की हड्डी नहीं होने की एक मिसाल है। ’

यह भी पढ़े: CM योगी का राहुल गांधी के आई डोंट लाइक यूपी आम पर पलटवार, कहा-विभाजनकारी है आपका स्वाद

वहीं आंकड़ों में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि प्रति दिन 93 लाख लोगों का टीकाकरण किए जाने की जरूरत है और पिछले सात दिनों में वास्तविक दर (हर रोज औसत टीकाकरण) प्रति दिन 36 लाख है। इस तरह पिछले सात दिनों में हर दिन 56 लाख टीकों का अंतर है। इसमें कहा गया है कि 24 जुलाई को (पिछले 24 घंटे में टीकाकरण) वास्तविक टीकाकरण 23 लाख लोगों का हुआ यानी 69 लाख का अंतर रहा।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर