मीराबाई चानू ने खोला भारत का खाता, वेटलिफ्टिंग में जीता सिल्वर मेडल, शूटर सौरभ चौधरी भी पहुंचे फाइनल में

मीराबाई चानू ने खोला भारत का खाता, वेटलिफ्टिंग में जीता सिल्वर मेडल, शूटर सौरभ चौधरी भी पहुंचे फाइनल में
Image source : Google

टीआरपी डेस्क। टोक्यो ओलंपिक 2020 के दूसरे दिन साइखोम मीराबाई चानू ने भारत के लिए पहला मेडल जीतकर  खाता खोल दिया है। मीराबाई चानू ने 49 किलो ग्राम वर्ग में 202 के कुल वजन के साथ सिल्वर मेडल जीत लिया है। उन्होंने स्नैच में 87 और क्लीन एंड जर्क में 115 किलो ग्राम का वजन उठाया। वहीं पहले स्थान पर चीन की हो जिहुई रही जिन्होंने स्नैच में 94 और क्लीन एंड जर्क में 116 में का वजन उठाया।

यह भी पढ़े: टोक्यो ओलंपिक में भारत के खिलाड़ियों का सबसे बड़ा दल होगा शामिल

बता दें, चानू से पहले सिडनी ओलंपिक 2000 कर्णम मल्लेश्वरी ने वेटलिफ्टिंग में भारत को कांस्य पदक दिलाया था। कर्णम मल्लेश्वरी ने उस वक्त कुल 240 किलोग्राम भार उठाया था। वह स्नैच श्रेणी में 110 किलोग्राम और क्लीन एंड जर्क में 130 किलोग्राम भार उठाते हुए ओलंपिक कांस्य पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला थी।

यह भी पढ़े: टोक्यो ओलंपिक की आज से शुरुआत, 205 देशों के 11 हजार एथलीट खेलो के महाकुम्भ में लेंगे भाग

वहीं भारत के युवा निशानेबाज सौरभ चौधरी ने भी पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में जगह बना ली है। इस भारतीय खिलाड़ी ने क्वालीफिकेशन में दमदार प्रदर्शन करते हुए पहले स्थान पर रहते हुए फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। सौरभ ने छह सीरीज में कुल 586 का स्कोर किया। सीरीज दर सीरीज देखा जाए तो सौरभ ने 95, 98, 98, 100, 98, 97 का स्कोर किया।

यह भी पढ़े: टोक्यो ओलंपिक में मंत्रिस्तरीय कोई भी प्रतिनिधिमंडल नहीं जाएगा, खेल मंत्रालय का बड़ा फैसला

उन्हें चीन के झांग वोबेन ने कड़ी चुनौती दी। इन दोनों में पहले और दूसरे स्थान की रेस चलती रही जिसमें भारतीय निशानेबाज आगे निकल गए। झांग दूसरे स्थान पर रहे। जर्मनी के रेइट्ज क्रिस्टियन से इन दोनों खिलाड़ियों को शुरू में अच्छी चुनौती मिली लेकिन वह इन दोनों को पीछे नहीं कर पाए और तीसरे स्थान पर रहे।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर