एक साल बाद भी नहीं सुलझी सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी, जानें केस में अब तक क्या-क्या हुआ

एक साल बाद भी नहीं सुलझी सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी, जानें केस में अब तक क्या-क्या हुआ
एक साल बाद भी नहीं सुलझी सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी, जानें केस में अब तक क्या-क्या हुआ

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने एक साल पहले आज ही के यानि 14 जून को दुनिया को अलविदा कह दिया था। इस मौके पर उनके करीबियों से लेकर फैंस तक उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। बीते 14 जून को सुशांत का शव उनके अपार्टमेंट में मिला था। जिसके बाद उनके पिता केके सिंह ने दिवंगत अभिनेता की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी और उन पर पैसों के हेर-फेर का आरोप लगाया था।

जब बॉलीवुड में नेपोटिज्म का मुद्दा उठा तो कई सितारे निशाने पर भी आए। पहले इस केस की जांच मुंबई पुलिस और पटना पुलिस कर रही थी। फिर केस सीबीआई को सौंप दिया गया। एक साल बाद भी सुशांत की मौत की गुत्थी सुलझ नहीं सकी है।

चलिए बताते हैं कि अभी तक इस केस में क्या-क्या हुआ –

14 जून
सुशांत सिंह राजपूत का शव उनके बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में पाया गया। अभिनेता की टीम ने एक बयान जारी कर कहा था- ‘दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि सुशांत अब हमारे बीच नहीं हैं।‘ बॉलीवुड के सितारों ने उनके निधन पर शोक जताया। इनमें करण जौहर, कृति सेनन, अनिल कपूर, अनुपम खेर सहित अन्य सितारे थे। दीपिका पादुकोण ने मेंटल हेल्थ को लेकर पोस्ट किया और कहा कि इस पर बात करने की आवश्यकता है।

15 जून
कंगना ने सुशांत के बारे में एक वीडियो पोस्ट किया और कहा कि ‘वो दिमागी रूप से कमजोर नहीं था। वह रैंक होल्डर था वह कैसे दिमाग से कमजोर हो सकता है? अगर उनके कुछ पोस्ट को देखें तो यह साफ है कि वह अपनी फिल्म को देखने के लिए कह रहे थे। उनका इंडस्ट्री में कोई गॉडफादर नहीं था। उन्हें इंडस्ट्री ने क्यों स्वीकार नहीं किया?’

17 जून
सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ के निर्देशक मुकेश छाबड़ा ने अपना बयान दर्ज कराया।

18 जून
रिया को अपना बयान दर्ज कराने के लिए समन दिया गया। उनके साथ अन्य 10 लोगों का बयान दर्ज किया गया। इनमें सुशांत के परिवार के लोग भी शामिल थे।

24 जून
मुंबई पुलिस को मिले पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक अभिनेता की मौत ‘फांसी लगने की वजह से सांस रुकने’ से हुई थी। फाइनल रिपोर्ट में था कि ‘मौत से पहले किसी भी तरह का संघर्ष नहीं किया गया था, ना कोई नाखून के निशान मिले।‘

7 जुलाई
संजय लीला भंसाली से मुंबई पुलिस ने पूछताछ की। रिपोर्ट में बताया गया कि भंसाली ने सुशांत को चार फिल्मों के लिए अप्रोच किया था लेकिन तारीखों की वजह से फिल्म नहीं कर सके।

14 जुलाई
रिया चक्रवर्ती ने अपनी चुप्पी तोड़ी और सुशांत के साथ तस्वीरें शेयर कीं। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा- ‘मुझे उम्मीद है तुम और ज्यादा शांति की जगह पर हो। चांद, तारे, गैलेक्सी स्वागत करते हैं।‘

16 जुलाई
रिया ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर गृह मंत्री अमित शाह से मामले की सीबीआई जांच की मांग की।

28 जुलाई
सुशांत के पिता केके सिंह ने पटना में रिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। उन्होंने आत्महत्या के लिए उकसाने, पैसों के हेर-फेर का आरोप लगाया।

29 जुलाई
रिया ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया और उनके खिलाफ पटना में की गई एफआईआर को मुंबई में ट्रांसफर करने की मांग की।

3 अगस्त
बिहार पुलिस जांच के लिए मुंबई पहुंचीं। दूसरी ओर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सुशांत के चार्टर्ड अकाउंटेंट संदीप श्रीधर से पूछताछ की।

4 अगस्त
बिहार सरकार ने मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की।

5 अगस्त
केंद्र ने बिहार सरकार की मांग मान ली और जांच सीबीआई को सौंप दी गई। सीबीआई ने रिया, उनके माता-पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती, संध्या चक्रवर्ती और भाई शौविक चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

7 अगस्त
ईडी ने रिया, शौविक, रिया के चार्टर्ड अकाउंटेंट रितेश शाह और उनकी पूर्व मैनेजर श्रुति मोदी से मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूछताछ की।

18 अगस्त
सुशांत के पिता केके सिंह ने ईडी के समक्ष अपना बयान दर्ज कराया।

22 अगस्त
सीबीआई की स्पेशल टास्क फोर्स और फॉरेंसिक की टीम सुशांत के बांद्रा स्थित घर पर पहुंची और जांच की। टीम के साथ सुशांत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी और उनके कुक नीरज भी थे।

26 अगस्त
सीबीआई और ईडी के बाद अब इस मामले की जांच मे नारकोटिक्स नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ड्रग एंगल को लेकर जांच में जुट गई।

28 अगस्त
रिया पहली बार सीबीआई के सामने पूछताछ के लिए पहुंचीं। वहीं ईडी ने गोवा के बिजनेसमैन गौरव आर्या से पूछताछ की।

7 सितंबर
रिया ने सुशांत की बहन प्रियंका के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। आरोप था कि सुशांत को एंजाइटी के लिए गलत प्रिस्क्रिप्शन के जरिए दवाइयां दी गईं।

8 सितंबर
तीन दिन की पूछताछ के बाद एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया।

3 अक्टूबर
एम्स की फॉरेंसिक टीम जो सुशांत की ऑटोप्सी रिपोर्ट की जांच कर रही थी, उन्होंने दावा किया कि यह आत्महत्या का मामला है। डॉ गुप्ता ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि ‘फांसी के अलावा शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं थे। मृतक के शरीर और कपड़ों में संघर्ष / हाथापाई के कोई निशान नहीं थे।‘

7 अक्टूबर
रिया चक्रवर्ती जमानत पर रिहा हुईं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर