‘विद्यादान’ कार्यक्रम: प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में जुटे युवाओं के लिए 10 हजार पुस्तकें किया भेंट

'Vidyadan' program Nalanda Campus Library
कलेक्टर एवं नालंदा लाइब्रेरी प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सौरभ कुमार ने इस पहल को अनुकरणीय बताते हुए 'विद्यादान' कार्यक्रम के अंतर्गत पुस्तकें दान स्वरूप भेंट करने की अपील सभी से की है

रायपुर। छत्तीसगढ़ के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू ने बुधवार को डॉ. महादेव पांडेय नालंदा परिसर लाइब्रेरी में अध्ययनरत युवाओं के लिए उपयोगी पुस्तकें भेंट की हैं। कलेक्टर एवं नालंदा लाइब्रेरी प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सौरभ कुमार ने इस पहल को अनुकरणीय बताते हुए ‘विद्यादान’ कार्यक्रम के अंतर्गत पुस्तकें दान स्वरूप भेंट करने की अपील सभी से की है। उन्होंने कहा कि इससे सभी छात्रों को लाभ होगा। समाज में और भी लोगों को आगे आकर किताबें दान करनी चाहिए।

शिक्षा के बेहतर संसाधन उपलब्ध करना ही उद्देश्य

अपर मुख्य सचिव साहू ने रोजगार अधिकारी व नालंदा लाइब्रेरी के नोडल अधिकारी केदार पटेल, लाइब्रेरियन डॉ. मंजुला जैन को 150 पुस्तकें भेंट कर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में जुटे युवाओं को अपनी शुभकामनाएं दीं। कलेक्टर सौरभ कुमार ने बताया कि युवाओं को शिक्षा के बेहतर संसाधन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस विशाल लाइब्रेरी में 50 हजार से अधिक पुस्तकें, समाचार पत्र और पत्रिकाएं उपलब्ध हैं।

यह भी पढ़े :-बड़ी खबर- छत्तीसगढ़ में अब TET की परीक्षा प्रमाणपत्र आजीवन रहेगा मान्य, शासन ने हटाई वर्ष 2011 की बाध्यता

25 सौ से अधिक युवा लाइब्रेरी के सदस्य

लगभग 25 सौ से अधिक युवा इस समय इस लाइब्रेरी की सदस्यता लेकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में जुटे हुए हैं। इस लाइब्रेरी में ‘विद्यादान’ कार्यक्रम के तहत लगभग 10 हजार पुस्तकें भी दानस्वरूप अब तक प्राप्त हुई हैं। विश्वस्तरीय सुविधाओं से सुसज्जित इस लाइब्रेरी में अध्ययन कर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त कर युवा अपने भविष्य को नई दिशा दे रहे हैं।

कलेक्टर सौरभ कुमार ने अपील कर कहा है कि जो भी व्यक्ति इस ‘विद्यादान’ कार्यक्रम के जरिए पुस्तक भेंट करने के इच्छुक हैं, कार्यालयीन समय में नालंदा परिसर आकर पुस्तकें भेंट कर सकते हैं। दान की गई पुस्तकों पर दानदाता के नाम भी अंकित होंगे।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर