SECL के वित्तीय सहयोग से सिम्स बिलासपुर की आरटीपीसीआर टेस्ट क्षमता होगी दुगुनी, कोरोना के रोकथाम में अब तक करोड़ों का योगदान

SECL

बिलासपुर। सिम्स अस्पताल, बिलासपुर के द्वारा किये जा रहे आरटी पीसीआर टेस्ट की क्षमता अब दुगुनी होगी। वर्तमान में संस्थान के मोलेकूलर वायरोलोज़ी लैब द्वारा लगभग 700-800 सैंपल की प्रतिदिन जाँच की जा रही है।

SECL के PRO शनिश्चंद्र ने बताया की सिम्स प्रबंधन के डीन के अनुरोध पर एसईसीएल प्रबंधन द्वारा सीएसआर मद से इस हेतु 32.90 लाख रुपये स्वीकृत किये गए हैं। इस राशि से एक आरटीपीसीआर सिस्टम (कंप्यूटर एवं यूपीएस सहित) एवं 70-80 डिग्री एवं – 200 डिग्री के डीप फीज़र उपलब कराए जाएँगे। इससे सैंपल जाँच में तेज़ी आएगी तथा डीप फ्रीजर के उपयोग से सैंपल के संग्रहण में भी सहूलियत होगी।

अब तक 22 करोड़ का किया सहयोग

SECL प्रबंधन ने कोरोना के संक्रमण को रोकने और पीड़ितों के इलाज के लिए अब तक राज्य सरकार को 22 करोड़ रूपये की सहायता राशि विभिन्न मदों पर खर्च के लिए दी है। SECL के PRO शनिश्चंद्र ने TRP NEWS को जो सूची उपलब्ध कराई है उसके मुताबिक COVID 19 के लिए राज्य सरकार को 10 करोड़ की आर्थिक सहायता, बिलासपुर और अंबिकापुर में COVID सेंटर के लिए 8.27 करोड़, विभिन्न जिलों कोरोना की रोकथाम के लिए 3 करोड़, बिलासपुर में क्वारंटीन सेंटर के लिए 44 लाख के अलावा प्रवासी मजदूरों के लिए चलाये जा रहे श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में लगभग 6 लाख रूपये के खर्च से भोजन बंटवाए गए। इन सब के अलावा SECL की विभिन्न परियोजनाओं में संचालित अस्पतालों में भी COVID सेंटर का संचालन किया जा रहा है, जहां कोरोना पीड़ितों का इलाज किया जा रहा है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर