Sunday, May 22, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeराजनीतिकोरोना पर पीएम मोदी संग बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने...

कोरोना पर पीएम मोदी संग बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने की एक करोड़ वैक्सीन की डिमांड,सीएम भूपेश बघेल भी शामिल हुए

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

रायपुर। प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को कम टीकाकरण कवरेज वाले जिलों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा बैठक लिया। इस समीक्षा बैठक में कई प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी मौज़ूद हैं। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। साथ ही इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव, सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य डॉ. आलोक शुक्ला भी उपस्थित थे।

बैठक के ख़त्म होने के बाद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि कोविड-19 टीकाकरण सहित अन्य विषय को लेकर आज प्रधानमंत्री से वीडियो कॉन्फ्रेंस पर चर्चा हुई है। इस दौरान सिंहदेव ने कहा की देश के 45 राज्यों के 12 जिलों में वैक्सीनेशन की संख्या कम हुई इसको लेकर चर्चा हुई और वैक्सीनेशन ज्यादा से ज्यादा करने कहा गया है। स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार के पास पुराना डाटा गया था इसी वजह से आज चर्चा में छत्तीसगढ़ को शामिल किया गया।

50 प्रतिशत नहीं 69% टीकाकरण पूर्ण – सिंहदेव

साथ ही सिंहदेव ने ये भी साफ किया कि छत्तीसगढ़ में नारायणपुर जिले को अंकित किया गया था। केंद्र सरकार वेक्सिनेशन के पास पुराने आकड़ें थे। शायद इस लिए दोनों के आकड़ों में इस लिए अंतर मिला है। केंद्र सरकार ने 50 प्रतिशत वेक्सिनेशन आंका था, लेकिन हमने 69 प्रतिशत वेक्सिनेशन पूरा कर लिया है। ये इस लिए भी ऐसा हुआ क्युकी सीजी टीका एप में बहुत से आकड़ें दर्ज नही हो पाया थे, जिसके वजहें से भी आकड़ों में फर्क आया है। राष्ट्रीय औसत से भी हमारे छत्तीसगढ़ में वेक्सिनेशन को लेकर पूरा किया गया है। स्वास्थ मंत्री ने यह भी कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार से एक करोड़ टीका और एक करोड़ वैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग पीएम के सामने रखी हैं।

ती माह का लक्ष्य

बच्चों की वैक्सीन की वैज्ञानिक शोध के बाद अभी अनुमति देश में नहीं मिली है। अनुमति मिलते ही सप्लाई शुरू होगा। हमको करीब 210 डोस लगने है, पहले दूसरे मिला कर डोज लगने है। एक करोड़ डोस अगर हम प्रतिदिन अब बनने लगा है। तो हमें तीन महीने लगेंगे 1 करोड़ डोस प्रतिदिन लगते है तो तीन महीने लगेंगे दूसरे मिला कर डोज कवर करने में। प्रदेश में बहुत से लोग ऐसे है जहा पहले डोज के बाद लोग दूसरे डोज के लिए नहीं आ रहे है। हम इसके लिए भी प्रयास करगें की लोगों को इसके लिए जागरूक किया जा सकें।

हर घर से किया जाएगा संपर्क – प्रधानमंत्री

इस बैठक में प्रधानमंत्री ने झारखंड, मणिपुर, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, मेघालय और कम टीकाकरण कवरेज वाले जिलों वाले एवं अन्य राज्यों के 40 से अधिक जिलों के जिलाधिकारियों के साथ बातचीत की। इस समीक्षा बैठक में पीएम ने कहा कि ‘अब हम टीकाकरण अभियान को हर घर तक ले जाने की तैयारी कर रहे हैं। ‘हर घर दस्तक’ के मंत्र के साथ, हर दरवाजे पर दस्तक’, वैक्सीन की दोहरी खुराक के सुरक्षा जाल से वंचित हर घर से संपर्क किया जाएगा।

प्रधानमंत्री ने देश के विभिन्न राज्यों के जिलों में पदस्थ कलेक्टरों से कहा कि आप अपने जिलों में एक-एक गांव, एक-एक कस्बे के लिए अगर अलग-अलग रणनीति बनानी हो तो वह भी बनाएं। आप क्षेत्र के हिसाब से 20-25 लोगों की टीम बनाकर भी ऐसा कर सकते हैं। जो टीमें आपने बनाई हों, उनमें एक हेल्थी कंपटीशन हो, इसका भी प्रयास हम कर सकते हैं।

जिला कलेक्टरों से सीधी बात

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आपके सामने एक चुनौती अफवाह और लोगों में भ्रम की स्थिति भी है। इसका समाधान है कि लोगों को ज़्यादा से ज़्यादा जागरुक किया जाए। आप धर्मगुरुओं के छोटे वीडियो बनाएं ताकि धर्मगुरु उन्हें समझाएं। मैंने वैक्सीन के लिए लोगों को जागरुक करने के लिए धर्मगुरुओं से मदद की अपील की थी।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

R.O :- 12027/152





Most Popular