Saturday, May 21, 2022
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeaccidentइलेक्ट्रिक वाहनों में बैटरी के फटने और आग लगने की बढ़ रही...

इलेक्ट्रिक वाहनों में बैटरी के फटने और आग लगने की बढ़ रही हैं घटनाएं, जानिए क्या है इसकी वजह

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

रायपुर। बीते कुछ दिनों से इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी में विस्फोट और आग लगने की घटनाओं की खबरें देश भर से आ रही हैं। इससे जहां एक ओर इलेक्ट्रिक वाहन चलाने वालों की चिंता बढ़ गई है, वहीं इन वाहनों की बिक्री पर भी असर पड़ा है। बैटरी के फटने या फिर आग लगने की घटनाएं क्यों हो रही हैं, इसकी जांच के आदेश भी सरकार ने दे दिए हैं।

STORY 01- वेल्लोर में कुछ दिन पहले एक इलेक्ट्रिक स्कूटर की चार्जिंग के दौरान उसकी बैटरी में विस्फोट हो गया था। बताया जा रहा हैं कि इलेक्ट्रिक स्कूटर में लगी आग के धुएं से दम घुटने ने दोनों की मौत हो गई। इस घटना की जांच में सामने आया कि ग्राहक ने (Electric scooter) इलेक्ट्रिक स्कूटर के चार्जर को एक पुराने सॉकेट में प्लग कर दिया, जो ई-बाइक (E-bikes) को चार्ज करने के लिए कम वोल्टेज क्षमता का हो सकता था और इससे शॉर्ट सर्किट हुई और बैटरी में विस्फोट हो गया। दरअसल, पिछले छह महीनों में ओकिनावा से इलेक्ट्रिक स्कूटर (Electric scooter) में इस तरह की यह दूसरी घटना थी।

STORY 02- दूसरी घटना तमिलनाडु के ही मन्नापराई की है। सिंगापुर में इलेक्ट्रिशियन का काम करने वाला मुरुगेसन बीते दिनों छुट्टियों में अपने घर आया था। उसने पांच महीने पहले ही एक इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदा था। सिंगापुर लौटने से पहले वह अपना इलेक्ट्रिक स्कूटर 27 मार्च को अपने एक दोस्त बालू की दुकान के बाहर खड़ा कर गया था। अगले दिन उसके दोस्त बालू ने जब अपनी दुकान खोली तो इलेक्ट्रिक स्कूटर में धुंआ निकलता दिखाई दिया। इसके बाद इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग लग गई। आसपास पानी नहीं होने की वजह से बाद में पड़ोसियों की मदद से पानी और मिनरल वॉटर डालकर आग बुझाई गई।
इसी तरह महाराष्ट्र के पुणे में धनोरी इलाके में एक Ola Scooter में अचानक आग लगने की घटना सामने आई। इस घटना में इलेक्ट्रिक स्कूटर सड़क पर धू-धू कर जलने लगा और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

विशेषज्ञ करेंगे घटना की जाँच

केंद्र सरकार ने भारत के ओला इलेक्ट्रिक (Ola electric) और ओकिनावा इलेक्ट्रिक (Okinawa electric) दोपहिया वाहनों में आग लगने की बढ़ती घटनाओं की जांच के आदेश दे दिए हैं। भारत सरकार ने एक स्वतंत्र विशेषज्ञ से इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग लगने की घटनाओं के वास्तविक कारणों और परिस्थितियों की जांच करने को कहा है।

ओवर चार्जिंग या शार्ट सर्किट है प्रमुख वजह

दरअसल इलेक्ट्रिक गाड़ियों में सील्ड बैटरियों का इस्तेमाल होता है। सामान्य गाड़ियों के लिए बैटरी बनाने वाले निहाल अहमद ने बताया कि सील्ड बैटरी चार्ज करते समय अगर कट आउट सिस्टम न हो तो बैटरी ओवर चार्ज होते हुए गर्म हो जाती है और उसमे विस्फोट हो जाता है। इसी तरह शार्ट सर्किट के दौरान जब निगेटिव पॉजिटिव आपस में टच हो जाते हैं तब भी विस्फोट की घटना घट सकती है। इसके अलावा कोई दूसरी वजह अब तक सामने नहीं आयी है। बैटरी अगर घटिया हो तो उसमे विस्फोट या आग लगने की घटना की संभावना बनती है।

गौरतलब है कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती महंगाई और उससे होने वाले प्रदूषण के चलते इलेक्ट्रिक गाड़ियों को इसके विकल्प के रूप में देखा जा रहा है, और कहा यह भी जा रहा है कि भविष्य इन्हीं गाड़ियों का है। वर्तमान में इनकी कीमत काफी ज्यादा है, इसलिए कम लोग ही इलेक्ट्रिक स्कूटर या कार का इस्तेमाल कर पा रहे हैं, मगर उम्मीद की जा रही है कि आने वाले समय में इनकी कीमतें कम होंगी और इसकी तकनीक में भी सुधार आएगा। मगर अभी जिस तरह से इलेक्ट्रिक गाड़ियों में बैटरी विस्फोट और आग लगने की घटना हुई है, उसने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। फ़िलहाल इन गाड़ियों का इस्तेमाल करने वालों को सतर्क रहने की जरुरत है, ताकि संभावित घटनाओं से बचा जा सके।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

R.O :- 12027/152





Most Popular