अब अजय चंद्राकर ने अलापा OBC के 27% आरक्षण का राग, कांग्रेस सरकार पर लगाए कई आरोप

रायपुर : प्रदेश के वरिष्ठ भाजपा नेता अजय चंद्राकर ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस वामपंथियों के दिमाग से चल रही है। वामपंथी कांग्रेस का थिंकटैंक होगए हैं। दरअसल भाजपा मुख्यालय एकात्म परिसर में आयोजित एक प्रेस वार्ता में मीडिया से चर्चा करने के दौरान अजय चंद्राकर ने पिछले दिनों जगदलपुर में पिछड़ा वर्ग के द्वारा कांग्रेस की सभा का बहिष्कार करने का मामला उठाया। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री ने 15 अगस्त 2019 को 13% अनुसूचित जाति वर्ग, 27% पिछड़ा वर्ग और 10% की EWS को आरक्षण देने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि अध्यादेश लाकर छत्तीसगढ़ में लागू किया जाएगा। इसके लिए सेवानिवृत्त जज छविलाल पटेल के अध्यक्षता में क्वांटिफिएबल डाटा आयोग बना था। जिसने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

इसके बाद अजय चंद्राकर का कहना है कि भूपेश बघेल 24 घंटे के अंदर अध्यादेश लाकर आरक्षण की व्यवस्था को लागू करें। जिससे एक बड़े वर्ग को लाभ मिल सके। अजय चंद्राकर ने आरोप लगाते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ शासन की ओर से प्रकाशित पत्रिका में कहा गया है कि 14500 शिक्षकों की भर्ती की गई है। लेकिन विधानसभा में हुए बजट सत्र में इसी पर जो सवाल था उसमें जानकारी आई थी कि शिक्षकों की भर्ती पूरी नहीं हुई है। इस तरह सरकार रोजगार के मामले में भी गलत आंकड़े प्रस्तुत कर रही है।

अजय चंद्राकर ने आरोप लगाते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ शासन अब शराब के धंधे में भी आउटसोर्सिंग का रास्ता अपनाते हुए उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को सुपरवाइजर के पदों पर रख रही है। वहीं शराब बेचने का काम छत्तीसगढ़ के युवाओं से करवाया जा रहा है। इस काम से जुड़े युवा न सिर्फ शराब पीना सीख रहे हैं, बल्कि डिप्रेशन में भी जा रहे हैं। नरवा गरवा घुरवा बारी का नारा खूब दिया जाता रहा है। लेकिन इनमें से जुड़े हुए कामों में सरकार ने बजट में कोई राशि नहीं रखी है। पिछले 3 वर्षों में प्रदेश को कर्ज में डूबाने के अलावा कांग्रेस सरकार ने कुछ नहीं किया है। यहां की खदानें भी बाहर के लोगों को बेची जा रही हैं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button