क्लोरीन टैबलेट घोटाला: UPSIDC के पूर्व प्रबंधक गिरफ़्तार, करोड़ों के गबन का है आरोप

लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम के पूर्व प्रबंधक श्रीकृष्ण त्रिपाठी को करीब 4.5 करोड़ रुपए के गबन मामले में गिरफ्तार किया गया है। UPSIDC के पूर्व प्रबंधक पर यह कार्रवाई आर्थिक अपराध शाखा ने की है। आरोप है कि पूर्व प्रबंधक ने क्लोरीन टैबलेट की आपूर्ति में भारी गड़बड़ी की है।

आर्थिक अपराध शाखा ने उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम के पूर्व गिरफ्तार किया है

जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम के पूर्व प्रबंधक श्रीकृष्ण त्रिपाठी को अरेस्ट कर लिया गया है। ईओडब्ल्यू की टीम को क्लोरीन की टैबलेट की आपूर्ति को लेकर जानकारी मिली थी, जिसके बाद ये कदम उठाया गया था।

मामले की शिकायत मिलने के बाद घटनाक्रम की हुई जांच

इस पूरे मसले को लेकर पहले घटना की जांच हुई उसके बाद इस मैटर पर आदे की कार्रवाई की गई है। इस पूरे मामले की जांच में पाया गया था कि क्लोरीन टैबलेट की आपूर्ति में साढ़े चार करोड़ रुपए का गबन किया गया है. इस जांच प्रक्रिया के बाद ईओडब्ल्यू की टीम ने पूर्व मैनेजर को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button