पंजाब के पूर्व सांसद सुनील जाखड़ ने कांग्रेस’ को कहा अलविदा

चंडीगढ़। कांग्रेस पार्टी में अंतरकलह की समस्याओं को दूर करने सहित संगठन को मजबूत करने के लिए चिंतन शिविर कर रही है लेकिन समस्या दूर होने के बजाय और बढ़ती जा रही है। इस बीच पंजाब के पूर्व सांसद सुनील जाखड़ ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया है। जाखड़ ने आज पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इस दौरान जाखड़ का दर्द छलका और उन्होंने हाई कमान पर निशाने साधे हैं। उन्होंने कहा कि अब पंजाब में कभी भी कांग्रेस स्थिर नहीं हो पाएगी।

सुनील जाखड़ ने कहा कि आज उन्हें कांग्रेस पर तरस आ रहा है। कांग्रेस आज एक मुख्य विरोधी पार्टी है। कांग्रेस पार्टी की तरफ से उदयपुर में लगाया गया चिंतन कैंप वास्तव में चिंता वाला कैंप होना चाहिए था।सुनील जाखड़ ने कांग्रेस हाईकमान पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें नोटिस जारी कर यह कहा गया कि उन्हें सभी पदों से निरस्त किया जाता पर उस समय तो उनके पास कोई पद ही नहीं था। उन्होंने कहा कि दिल तोड़ने का भी एक सलीका होता है पर जिस तरह कांग्रेस ने उनका दिल तोड़ा है, यह तो बहुत गलत है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने नोटिस तो दे दिया पर नोटिस देने का कारण तो बताओ, मेरा कसूर तो बताओ क्या है। उन्होंने पार्टी प्रधान सोनिया गांधी और राहुल गांधी को कहा कि कांग्रेस उनके से बिना नहीं चल सकती और यह आपको देखना पड़ेगा कि पार्टी को कैसे चलाना है। इस मौके पर उन्होंने राहुल गांधी की तारीफ करते कहा कि राहुल गांधी बहुत अच्छे इंसान हैं। यदि उनकी जगह पर कोई और होता तो यह जुदाई बहुत पहले ही हो जाना चाहिए था।

उन्होंने कहा कि पार्टी चलाने के लिए चापलूस लोगों से राहुल गांधी और सोनिया गांधी को कमान खुद आपने हाथों में लेनी पड़ेगी। जिस दिन उन्हे नोटिस भेजा गया था, उसी दिन से उनका कांग्रेस के साथ रिश्ता खत्म हो गया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हाईकमान को अच्छे व्यक्तियों को पहचानना पड़ेगा। सुनील जाखड़ ने इस मौके अंबिका सोनी पर भी निशाने साधे हैं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button