47 में से मात्र 9 बच्चे हुए पास, गुस्साए ग्रामीणों ने स्कूल पर ही जड़ दिया ताला कहा- मोबाइल पर व्यस्त रहती हैं अध्यापिकाएं

47 में से मात्र 9 बच्चे हुए पास, गुस्साए ग्रामीणों ने स्कूल पर ही जड़ दिया ताला कहा- मोबाइल पर व्यस्त रहती हैं अध्यापिकाएं

टीआरपी डेस्क। एक स्कूल ऐसा भी है जहां कक्षा दसवीं के 47 छात्रों में से मात्र 9 छात्र ही परीक्षा में पास हो सके। जिसके बाद ग्रामीणों ने गुस्से में आकर स्कूल पर ही ताला जड़ दिया। जी हां यह मामला राजस्थान के राजसमंद जिले के पिपरड़ा गांव का है। जहां के राजकीय स्कूल का परीक्षा परिणाम मात्र 19 फीसदी रहा।

इससे गांव के लोग काफी गुस्सा है और उन्होंने स्कूल के पूरे स्टाफ को ही बदलने की मांग की है। ऐसी जानकारी है कि पीपरड़ा गांव के स्कूल में लंबे समय से गणित पढ़ाने के लिए शिक्षक ही नहीं हैं। इसके कारण ही 19 छात्र पूरक और शेष सभी बच्चे गणित में फेल हो गए। जिससे नाराज होकर ग्रामीणों ने शुक्रवार को स्कूल के मेनगेट पर ही ताला लगा दिया। जिसके सूचना मिलते ही राजसमंद सीबीईओ हरकत में आए। उन्होंने ग्रामीणों को समझाया और स्कूल का ताला खुलवाया।

ग्रामीणों का आरोप है कि लंबे समय में स्कूल में शिक्षक ही नहीं है। स्कूल में दो ही अध्यापक हैं बाकी अध्यापिकाएं हैं जो अधिकांश समय सेलफोन पर ही व्यस्त रहती है। छात्र भी मोबाइल लेकर ही स्कूल जाते हैं। इससे स्कूल में पढ़ाई कम और मोबाइल ज्यादा चलते हैं। जिसका असर छात्रों के परीक्षा परीणाम पर भी पड़ा है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button