उदयपुर के कन्हैयालाल हत्याकांड मामले की NIA करेगी जांच

नई दिल्ली। भाजपा की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपूर शर्मा की ओर से पैगंम्बर मुहम्मद पर विवादित बयान देने के बाद उन पर निलंबन की कार्यवाही की जा चुकी है। इसके अलावा उन पर कई एफआईआर (FIR) दर्ज किए जा चुके है। नुपूर शर्मा ने विवादित बयान पर माफ़ी भी मांग चुकी है इसके बावजूद लोगों का आक्रोश कम नहीं हो रहा है। इस बीच नूपुर शर्मा का बचाव करना कन्हैयालाल नामक युवक को महंगा पड़ गया और उन्हें अपनी जान गवानी पड़ी।

मंगलवार को दो हमलावरों ने दिनदहाड़े कन्हैयालाल की हत्या कर दी थी। राजस्थान के उदयपुर में हुए हत्याकांड की जांच नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी करने जा रही है। केंद्रीय गृहमंत्रालय की तरफ से आदेश जारी कर दिए गए हैं। इस दौरान खासतौर से विदेशी एंगल की भी जांच की जाएगी। मंगलवार को दो हमलावरों ने दिनदहाड़े कन्हैयालाल तेली नाम के शख्स की हत्या कर दी थी। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ था। खबरें थी कि हमलावर के तार आतंकवादी संगठन से जुड़े हुए हैं।

बुधवार को केंद्रीय गृहमंत्रालय ने NIA को जांच की कमान संभालने के निर्देश दिए हैं। मंत्रालय ने जानकारी दी कि इस दौरान अंतरराष्ट्रीय तार और घटना में किसी संगठन की भूमिका भी गहन जांच की जाएगी। कहा जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में किए गए पोस्ट के कारण दोनों आरोपियों ने पेशे से दर्जी कन्हैयालाल की हत्या कर दी थी।

राज्य सरकार ने भी गठित की SIT

हत्याकांड के बाद राज्य सरकार ने जांच के लिए SIT गठित की थी। साथ ही सुरक्षा के मद्देनजर पूरे राज्य में एक महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई थी और इंटरनेट भी बंद कर दिया गया था। उदयपुर डीसीपी राजेंद्र भट्ट ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की थी। दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पाकिस्तान से जुड़े हो सकते हैं तार

कन्हैयालाल के हत्यारों के तार पाकिस्तान स्थित चरमपंथी संगठन से जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है। रिजाय भीलवाड़ा से है और खांजीपीर में किराय के घर में रहा था। वहीं गौस राजसमंद के भीमा से है। मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि आरोपी दावत-ए-इस्लामी नाम के संगठन से जुड़े हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में आरोपियों के तार आतंकवादी संगठन ISIS से जुड़े होने की बात भी सामने आई थी।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button