IAS सौरभ कुमार ने संभाला बिलासपुर कलेक्टर का पदभार, कहा- हम जनता के नौकर, उनका काम करना हमारी जिम्मेदारी

बिलासपुर। न्यायधानी में कलेक्टर का पदभार संभालने के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए सौरभ कुमार ने कहा कि जनता के लिए हुए टैक्स से हमें वेतन मिलता है। कलेक्ट्रेट पहुंचने वाले लोग फरियादी नहीं होते, हम उनके नौकर होते हैं। हमारा दायित्व है कि हम जनता का काम करें।

मंथन सभाकक्ष में पत्रकारों से चर्चा करते सौरभ कुमार ने कहा कि उनके काम और प्रशासन में आपको पारदर्शिता देखने को मिलेगी। समय सीमा पर अधिकारी काम करेंगे, जो नहीं करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। जब भी मैं दफ्तर में रहूंगा, आम लोगों और जनप्रतिनिधियों के लिए उपलब्ध हूं। उन्होंने कहा कि ऐसे जनदर्शन का कोई मतलब नहीं, जिसमें जनता के दर्शन तो हो मगर उनका काम ना हो।

बता दें कि सौरभ कुमार करीब 8 साल पहले कुछ समय के लिए बिलासपुर नगर निगम के आयुक्त थे। उन्होंने कहा कि यह एक पुराना समृद्ध शहर है। इसे आधुनिक और नागरिकों के लिए सुविधाजनक कैसे बनाना है, वे इस पर फोकस करेंगे। वे नागरिकों, जनप्रतिनिधियों और अफसरों के साथ मिलकर इस पर चर्चा करेंगे, शहर को समझने के लिए मैं कुछ हिस्सा घूम चुका, अब पूरा शहर घूमूंगा। बिलासपुर में अवैध रेत खनन, भू-माफिया, कोयला माफिया, ट्रैफिक समस्या, पार्किंग जैसे विषयों पर किए गए सवालों के जवाब में कलेक्टर ने कहा कि वे एक दिन में कायाकल्प करने का कोई बयान नहीं दे सकते। शहर की जनता के हित में प्राथमिकता के आधार पर काम हो और मुख्यमंत्री की फ्लैगशिप योजनाएं ठीक तरह से लागू इस पर मेरा जोर रहेगा। स्मार्ट सिटी के काम में विलंब को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि इसे समय पर पूरा करना जरूरी है। कुछ कार्यों को एनजीओ सहित अन्य संस्थाओं से मदद लेकर पूरा करना है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button