प्रतिष्ठित गुरुकुल आश्रम में छात्रों के शोषण का मामला उजागर, आरोपी प्राचार्य कमल आचार्य गिरफ्तार

महासमुंद। इस जिले के प्रतिष्ठित विद्यालय आर्ष ज्योति गुरुकुल आश्रम कोसरंगी के बच्चों का शारीरिक शोषण करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस प्रकरण की पालकों द्वारा की गई लिखित शिकायत के बाद पुलिस ने FIR दर्ज किया और आरोपी प्राचार्य कमल आचार्य को गिरफ्तार कर लिया है।

छात्रों के पालकों ने पुलिस को लिखित आवेदन देकर आश्रम के अधीक्षक पर आरोप लगाया है। आश्रम के कक्षा 8 वीं के 7 छात्रों के पालको ने ये आरोप लगाया है। सभी बच्चे महासमुंद, रायपुर के रहने वाले हैं। सूचना पर खल्लारी पुलिस, जिला बाल सरंक्षण अधिकारी एवं चाइल्ड लाइन की टीम ने मौके पर पहुंच कर छात्रों का बयान लिया।

बयान में आरोप की हुई पुष्टि

महासमुंद जिले के कोसरंगी में संचालित आर्ष ज्योति गुरुकुल आश्रम मे कक्षा 6 से लेकर 12 वीं तक के 83 बच्चे पढाई करते हैं। आश्रम अधीक्षक कोमल आर्य पर बच्चो के पालको ने ये आरोप लगाया है । जिला बाल संरक्षण अधिकारी व चाइल्ड लाइन के सदस्यो के बयान मे जहां बच्चो के साथ शारीरिक शोषण किये जाने की पुष्टि हुई है।

शर्मशार हुआ आश्रम

बता दें कि आर्ष ज्योति गुरूकुल स्कूल कोसरंगी में दूर-दूर से प्रतिष्ठित परिवारों के बच्चे अध्ययनरत हैं। पालकों ने संस्कार देने वाली इस संस्था की ख्याति को देखते हुए यहां अपने बच्चों को भर्ती कराया था, मगर यहां के प्राचार्य की हरकतों से संस्था शर्मसार होती नजर आ रही है। यहां पालकों में अपने बच्चों के साथ हुए अमानवीय कृत के चलते भारी आक्रोश है, वहीं गुरूकुल स्कूल का प्रबंधन अपने प्राचार्य का बचाव करते नजर आ रहा है। इस संस्था के प्रमुख द्वारा मौके पर प्राचार्य का बचाव करने का काफी प्रयास किया गया। तब पालकों ने उनके ऊपर जमकर गुस्सा उतारा और मामले की शिकायत खल्लारी थाने में कर दी। परिजनों ने इसकी सूचना तत्काल खल्लारी पुलिस को दी और चाईल्ड केयर सेंटर को भी दी।

महासमुन्द जिले के खल्लारी थाना क्षेत्र के आर्ष ज्योति गुरूकुल स्कूल में सनातन धर्म के स्कूलों की तरह यहां बच्चों को संस्कृत में शिक्षा दी जाती है। इस विद्यालय में महासमुन्द जिले सहित छत्तीसगढ़ प्रदेश के कई जिलों से बच्चों गुरूकुल में शिक्षा लेने आते है। पिछले कुछ दिनों से बच्चे स्कूल के प्राधन पाठक कोमल आचार्य की शिकायत अपने पालकों से कर रहे थे। इनकी शिकायत है कि गुरूकुल के प्रधान पाठक कोमल आचार्य बच्चों को अपने कमरे में बुलाकर उनको अपने बदन की मालिश करवाते हैं और बच्चों के साथ यौन शोषण करते हैं। बच्चों के मना करने पर प्राचार्य द्वारा उन्हें डराया धमकाया जाता है।

FILE PHOTO

बच्चों को किया परिजनों के सुपुर्द

पुलिस ने कल रात ही जिन बच्चों के पालक आये थे उन बच्चों को पालकों के सुपुर्द किया गया, वहीं जिन बच्चों के पालक नहीं पहुंचे थे उन बच्चों को रात्रि में ही चाईल्ड केयर सेन्टर भेज दिया गया है। वहीं आज सुबह खल्लारी पुलिस ने गुरुकुल के प्राचार्य कोमल वैष्णव के खिलाफ पास्को एक्ट की धारा 6,8 पॉक्सो एक्ट , 323, 506 के तहत मामला मामला दर्ज़ कर आरोपी प्राचार्य को गिरफ़्तार कर लिया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button