शिक्षा घोटाला मामला: अर्पिता मुखर्जी के घर से गायब चार गाड़ियों की तलाश में जुटी Ed

कोलकाता। शिक्षा घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई जारी है। इसी बीच जानकारी मिली है कि मामले में शामिल मानी जा रहीं एक्ट्रेस अर्पिता मुखर्जी के आवास से 4 लग्जरी गाड़ियां गायब हो गई हैं। खास बात यह है कि ईडी को हाल ही में मुखर्जी के ही आवास से 50 करोड़ रुपये की नगदी और भारी मात्रा में गहने और विदेशी मुद्रा बरामद हुई थी। एक्टर, मॉडल मुखर्जी पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री पद से हटाए पार्थ चटर्जी की करीबी मानी जाती हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उनके डायमंड सिटी कॉम्प्लैक्स से 4 लग्जरी गाड़ियां गायब हो गई हैं। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि मुखर्जी के गिरफ्तार होने के बाद से ही ये गाड़ियां गायब हैं।

ईडी के अधिकारियों ने कहा कि गायब हुई चार गाड़ियों को तलाशा जा रहा है। इस सूची में मर्सिडीज, एक ऑडी और दो होंडा सिटीज शामिल हैं। जांच एजेंसी के अधिकारियों ने कहा कि ये गाड़ियां दक्षिण कोलकाता के फ्लैट से गायब हैं। वहीं, एजेंसी ने बेसमेंट से एक कार जब्त कर ली है। एक अधिकारी ने कहा, ‘बेसमेंट में पार्क एक ऑडी को जब्त किया गया है। अन्य वाहनों को ट्रैस करने की कोशिश जारी हैं। सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें : आजादी का अमृत महोत्सव : हर विधानसभा क्षेत्र के 75 जगहों पर होगा ध्वजारोहण, घर-घर तिरंगा के बहाने BJP दिखाएगी ताकत

सचिन पायलट ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर साधा निशाना,

ईडी की तरफ से लगातार मुखर्जी से सवाल पूछे जा रहे हैं। इसी बीच एक्ट्रेस का कहना है कि उन्हें नहीं पता था कि फ्लैट के कमरों में रकम रखी गई है। ईडी ने दक्षिण कोलकाता वाले फ्लैट से करीब 21 करोड़ रुपये बरामद किए थे। इसके बाद चटर्जी और मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया गया था। वहीं, बुधवार को एजेंसी को बेलघारिया फ्लैट से 28 करोड़ रुपये और मिले। ईडी अधिकारी ने बताया है कि मुखर्जी ने दावा किया है कि उन्हें इन कमरों में जाने की इजाजत नहीं थी। जांच एजेंसी के अधिकारी के अनुसार, ‘अर्पिता मुखर्जी ने दावा किया है कि रुपये पार्थ चटर्जी का है और वह और उनके लोग फ्लैट पर आते थे और पैसा रख जाते थे। उन्होंने दावा किया है कि उन्हें रुपयों के रखे जाने की जानकारी थी, लेकिन मात्रा के बारे में नहीं पता था, क्योंकि वह इन कमरों में नहीं जा सकती थीं।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button