CWG 2022 : भारत के खिलाड़ियों ने बर्मिंघम में गाड़ा झंडा, अब तक 18 खिलाड़ी ने जीता पदक, देखें लिस्ट …

स्पोर्ट्स डेस्क। बर्मिंघम में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में अब तक भारतीय खिलाड़ियों ने 18 मेडल अपने नाम किए हैं। इन 18 पदकों में 5 स्वर्ण, 6 रजत और 7 ब्रॉन्ज हैं। भारत को सबसे ज्यादा पदक वेटलिफ्टर्स ने दिलाए हैं। इस स्पोर्ट से भारत को कुल 10 पदक मिले हैं। फिलहाल भारत कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 की मेडल टैली में सातवें पायदान पर है।

भारत के 18 विजेता खिलाडियों की सूची

18वां मेडल: तेजस्विन शंकर ने हाई जंप में 2.22 मीटर ऊंची छलांग लगाकर ब्रॉन्ज जीता। यह इस कॉमनवेल्थ गेम्स में एथलेटिक्स में भारत का पहला पदक है। कॉमनवेल्थ के अब तक के इतिहास में हाई जंप में भारत का पहला पदक है।

17वां मेडल: गुरदीप सिंह ने वेटलिफ्टिंग के 109kg+ भारवर्ग में 390kg वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया. इस कॉमनवेल्थ गेम्स में यह वेटलिफ्टिंग में भारत को मिला 10वां पदक हैं।

16वां मेडल: भारतीय महिला जूडो खिलाड़ी तुलिका मान ने +78kg भारवर्ग में भारत को सिल्वर दिलाया। वह गोल्ड की दावेदार थी लेकिन फाइनल में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

15वां मेडल : स्क्वाश के पुरुष सिंगल्स में सौरव घोषाल ने ब्रॉन्ज अपने नाम किया. वह कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में भारत को स्क्वाश में पदक दिलाने वाले पहले खिलाड़ी बने। उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल मैज में इंग्लैंड के जेम्स विलस्ट्रॉप को 11-6, 11-1, 11-4 से हराया।

14वां मेडल: वेटलिफ्टिंग में पुरुषों की 109kg कैटगरी में लवप्रीत सिंह ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया। उन्होंने कुल 355kg वजन उठाकर यह पदक अपने नाम किया।

13वां मेडल : मिक्स्ड बैडमिंटन टीम इवेंट के फाइनल में भारत को मलेशिया से 1-3 से हार मिली और उसे सिल्वर से संतोष करना पड़ा। यहां सात्विक साईराज रेंकी रेड्डी और चिराग शेट्‌टी की जोड़ी को हार मिली। इसके बाद ट्रीजा जॉली और गायत्री गोपीचंद की महिला जोड़ी भी हार गई। किदांबी श्रीकांत को भी हार का सामना करना पड़ा। एकमात्र पीवी सिंधु ने अपना मुकाबला जीता।

12वां मेडल: वेटलिफ्टर विकास ठाकुर ने पुरुषों के 96 किलो भारवर्ग में सिल्वर जीता. विकास ने स्नैच में 155 और क्लीन एंड जर्क में 191 किलो वजन उठाया. कुल 346 किलो वजन के साथ वह दूसरे पायदान पर रहे।

11वां मेडल: पुरुष टेबल टेनिस टीम के फाइनल मुकाबले में भारत ने सिंगापुर को 3-1 से हराकर गोल्ड जीता. शरद कमल, जी साथियान और हरमीत देसाई की तिकड़ी ने भारत को यह गोल्ड दिलाया। यहां शरद कमल अपना सिंगल मुकाबला हार गए थे लेकिन साथियान और हरमीत ने अपने-अपने सिंगल्स मुकाबले और एक डबल्स मुकाबल जीतकर भारत को स्वर्ण पदक दिला दिया।

10वां मेडल: लॉन बॉल्ड के महिला फोर इवेंट में भारतीय टीम ने पहली बार गोल्ड जीता. लवली चौबे, पिंकी, नयनमोनी सैकिया, रूपा रानी ने भारत को यह पदक दिलाया. फाइनल मुकाबले में भारत ने साउथ अफ्रीका को 17-10 से मात देकर गोल्ड जीता।

9वां मेडल: वेटलिफ्टर हरजिंदर कौर ने महिलाओं के 71kg भारवर्ग में कुल 212 किलोग्राम वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल जीता। हरजिंदर ने स्नैच में 93 और क्लीन एवं जर्क में 119 किग्रा का भार उठाया।

8वां मेडल: विजय कुमार यादव ने जूडो में भारत को ब्रॉन्ज मेडल दिलाया। वह पुरुषों के 60 किलो वर्ग में क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया के जोशुआ से हार गए थे। इसके बाद रेपचेज मुकाबलों में उन्हें मौका मिला और यहां उन्होंने कांस्य पदक जीत लिया. विजय ने ब्रॉन्ज मेडल मैच में साइप्रस के प्रेटो को 10-0 से मात दी।

7वां मेडल: सुशीला देवी लिकमाबाम ने जूडो के 48 किलोग्राम भारवर्ग में सिल्वर मेडल जीता. फाइनल में सुशीला का मुकाबला दक्षिण अफ्रीका की मिचेला व्हाइटबोई से था, जहां उन्हें अतिरिक्त समय में हार का सामना करना पड़ा।

6वां मेडल: अचिंता शिउली ने पुरुषों के 73 किलोग्राम भार वर्ग में स्नैच राउंड में 143 किलो और क्लीन एंड जर्क राउंड में 170 किलो वजन उठाया। इस तरह उन्होंने कुल 313 किलो वजन उठाकर भारत की झोली में तीसरा गोल्ड डाल दिया।

5वां मेडल: जेरेमी लालरिनुंगा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को दूसरा गोल्ड मेडल दिला दिया है। उन्होंने 67 किलोग्राम कैटगरी में 300kg वजन उठाकर स्वर्ण अपने नाम किया। वह सिल्वर मेडलिस्ट वाइपावा लोअने (293kg) से 7kg ज्यादा वजन उठाकर चैंपियन बने।

चौथा मेडल: महिलाओं के 55 किलोग्राम भारवर्ग कैटगरी में वेटलिफ्टर बिंदियारानी देवी ने भारत को सिल्वर दिलाया। उन्होंने स्नैच में 86kg और क्लीन एंड जर्क में 116kg वजन यानी कुल 202kg वजन उठाकर सिल्वर अपने नाम किया वह महज 1kg से गोल्ड चूंक गईं।

तीसरा मेडल: ओलंपिक मेडलिस्ट मीराबाई चानू ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को पहला गोल्ड दिलाया। उन्होंने 49kg कैटगरी में कुल 201kg वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता। मीराबाई ने स्नैच में 88kg और क्लीन एंड जर्क में 113kg वजन उठाया।

दूसरा मेडल: कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को दूसरा मेडल वेटलिफ्टर गुरुराजा पुजारी ने दिलाया। उन्होंने पुरुषों के 61kg भारवर्ग में 269kg वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।

पहला मेडल : कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत को अपना पहला पदक वेटलिफ्टर संकेत महादेव सरगर ने दिलाया. कॉमनवेल्थ गेम्स के दूसरे दिन उन्होंने पुरुषों के 55kg भारवर्ग में स्नैच में 113kg और क्लीन एंड जर्क में 135kg यानी कुल 248kg वजन उठाकर सिल्वर अपने नाम किया. वह गोल्ड मेडलिस्ट वेटलिफ्टर मलेशिया के मोहम्मद अनिक से महज 1kg पीछे रहे।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button