कलेक्टर ने खबर को लेकर अधिकारी से अभद्र भाषा का किया प्रयोग, पद की धौंस दिखाई और कर दिया अटैच, शिकायत के बाद अपना ही आदेश किया निरस्त

अंबिकापुर। सरगुजा कलेक्टर कुंदन कुमार विवादों में घिर गए हैं। यहां पदस्थ सहायक सूचना अधिकारी सुखसागर वारे और जिला जनसंपर्क कार्यालय में पदस्थ सहायक संचालक दर्शन सिंह सिदार ने कलेक्टर कुंदन कुमार पर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए धमकाने और दूसरे स्थान पर अटैच करने का आरोप लगाया है। दोनों ने छत्तीसगढ़ जनसंपर्क अधिकारी संघ को पत्र लिखकर मामले की शिकायत की, जिसके बाद कलेक्टर ने अपना आदेश निरस्त कर दिया।

छत्तीसगढ़ जनसंपर्क अधिकारी संघ के अध्यक्ष को लिखे पत्र में बताया गया है कि कि 3 अगस्त को शाम 7 बजे सरगुजा कलेक्टर कुंदन कुमार के द्वारा जिला जनसंपर्क कार्यालय अम्बिकापुर में पदस्थ सहायक संचालक एवं सहायक सूचना अधिकारी को अपने कार्यालयीन कक्ष में बुलाकर कार्यक्रम कव्हरेज एवं समाचार को लेकर अभद्र भाषा प्रयोग करते हुए गाली-गलौच किया गया। इसके साथ ही धमकी दी गई कि तुम लोग कलेक्टर का पावर नहीं जानते अगर मेरे को गुस्सा आ गया तो तुम दोनो कहीं दिखाई नहीं दोगे। तुम लोग केवल सीएम का ही कार्य करते हो, मेरे खिलाफ साजिश रचते हो, कहते हुए बहुत ही अमर्यादित ढंग से पेश होकर बदतमीजी की।

शिकायत पत्र के मुताबिक 2 अगस्त को कलेक्टर द्वारा महिला एवं बाल विकास तथा स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में दिए गए निर्देश एवं बयान के आधार पर समाचार जारी किया गया। उक्त समाचार को कलेक्टर द्वारा असत्य करार देते हुए साजिश के तहत जारी करने की बात कहते हुए हमारे साथ अभद्र सलूक किया गया। दोनों ने कहा कि कलेक्टर जिले का एक प्रमुख जिम्मेदार अधिकारी होता है, उनके इस प्रकार के अभद्र व्यवहार से हम मानसिक रूप से प्रताड़ित और क्षुब्ध हैं। इसके साथ ही कहा कि अगर हमारे साथ कोई भी अप्रिय घटना निर्मित होती है, तो उसके लिए पूर्ण जिम्मेदार कलेक्टर कुंदन कुमार होंगे।

अटैचमेंट का आदेश किया निरस्त

सरगुजा कलेक्टर कुंदन कुमार ने न केवल दुर्व्यवहार किया और धमकी दी बल्कि सूचना सहायक सुखसागर वारे को सीतापुर अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय में अटैच कर दिया। जिसको लेकर भी छत्तीसगढ़ जनसंपर्क अधिकारी संघ से शिकायत की गई थी। संघ की नाराजगी और मिडिया में यह मामला उछलने के बाद कलेक्टर ने एक नया आदेश जारी करते हुए सुखसागर वारे का अटैचमेंट तत्काल निरस्त करने कर दिया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button