चंडीगढ़। बीजेपी सांसद वरुण गांधी के ट्वीट के बाद हरियाणा के करनाल जिले में राशन के साथ तिरंगा बेचने का दबाव बनाने वाले पीडीएस वेंडर को सस्पेंड कर दिया गया। वह राशनकार्ड धारकों के साथ जबरदस्ती तिरंगा खरीदने का दबाव बना रहा था। हालांकि अब प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए उसे सस्पेंड कर दिया गया है।

हरियाणा के करनाल जिले में पीडीएस वेंडर दिनेश कुमार के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।दिनेश कुमार के खिलाफ शिकायत मिली थी कि वो राशन धारकों को जबरदस्ती तिरंगे खरीदने का दवाब बना रहा था, जिसके बाद PDS कंट्रोल ऑर्डर-2009 के तहत उसके खिलाफ कार्रवाई की गई है।

इस कार्रवाई को लेकर करनाल के जिला खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले नियंत्रक द्वारा आदेश जारी किए गए हैं। दरअसल इसको लेकर सरकार ने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए थे कि PDS सेंटर पर मिलने वाले तिरंगे केवल जनता की सुविधा के लिए हैं, उन्हें कोई भी स्वेच्छा से ले सकता है। 15 अगस्त के बाद जो तिरंगे बचेंगे वो वापस कर दिए जाएंगे।

वरुण गांधी ने किया था ये ट्वीट

तिरंगा बेचने को लेकर बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने आरोप लगाया था कि राशन कार्ड धारकों को राष्ट्रीय ध्वज खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है या फिर उनके हिस्से का अनाज नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि यह दुर्भाग्यपूर्ण होगा अगर आजादी की 75 वीं वर्षगांठ का जश्न गरीबों पर बोझ बन जाता है। एक पीड़ित व्यक्ति का वीडियो शेयर करते हुए वरुण ने लिखा था कि हर भारतीय के हृदय में बसने वाले तिरंगे की कीमत गरीब का निवाला छीन कर वसूलना शर्मनाक है।

बता दें कि आजादी के अमृत महोत्सव मनाते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने हर घर तिरंगा अभियान शुरू किया है, जो 13 से 15 अगस्त तक चलाया जाएगा। इसको लेकर तिरंगे डाकघर या राशन की दुकानों पर मिल रहे हैं, लेकिन कोई भी उन्हें दबावपूर्वक नहीं बेचा जा सकता।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर