RSS CONG

रायपुर। कांग्रेस के एक ट्वीट को लेकर भाजपा के बाद RSS भी भड़क गई है। कांग्रेस ने आरएसएस की जलती ड्रेस की तस्वीर शेयर की है। इस तस्वीर के साथ कांग्रेस ने लिखा कि देश को नफरत के माहौल से मुक्त करने और आरएसएस-बीजेपी से हुए नुकसान की भरपाई को पूरा करने की दिशा में हम एक-एक कदम बढ़ा रहे हैं। रायपुर में आरएसएस के सह सरकार्यवाह डॉ मनमोहन वैद्य ने कहा है कि उनके बाप-दादा ने भी संघ का बहुत तिरस्कार किया है।

डॉ मनमोहन वैद्य ने कहा कि वे लोगों को नफरत से जोड़ना चाहते हैं। उनके बाप-दादा ने संघ का बहुत तिरस्कार किया है, और अपनी पूरी ताकत के साथ संघ को रोकने का प्रयास किया, मगर संघ रुका नहीं, संघ लगातार बढ़ रहा है। हमें लोगों का समर्थन मिलता रहा है। भारत जोड़ो यात्रा पर मनमोहन वैद्य ने कहा कि क्या वह नफरत करने वालों से जोड़ना चाहते हैं।

कांग्रेस ने पोस्ट की थी ये तस्वीर

दरअसल, कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए पोस्ट में आरएसएस की ड्रेस में आग लगी तस्वीर साझा की है जिसके बाद से सियासत गरमा गई है। इस तस्वीर के जरिए कांग्रेस ने आरएसएस- भाजपा पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने ट्विटर पर तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि देश को नफरत के माहौल से मुक्त करने और आरएसएस–बीजेपी द्वारा किए गए नुकसान की भरपाई को पूरा करने के लक्ष्य की दिशा में हम एक–एक कदम बढ़ा रहे हैं। पोस्ट की गई तस्वीर में आरएसएस की ड्रेस में नीचे आग जलती दिखाई दे रही है और धुआं भी उठ रहा है। इसके साथ ही तस्वीर पर लिखा है ‘145 days more to go’

जनसंख्या नियंत्रण कानून पर भी विवाद

जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने के लिए RSS ने पहले ही प्रस्ताव पास किया है, जिसकी जानकारी संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने दी। इसी पर अब सियासी घमासान शुरू हो गया है। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने डॉ. मनमोहन वैद्य और RSS पर निशाना साधा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने कहा था कि जनसंख्या नियंत्रण को लेकर संघ ने प्रस्ताव पास किया है और मांग की है कि अगले 50 साल बाद क्या स्थिति रहेगी, उसे देखते हुए इसे लेकर नीति बने.

सीएम बघेल ने कहा कि उनके लोग ही बच्चा पैदा करने की बात करते हैं और अब वही नियंत्रण की बात कर रहे हैं। सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि CAA को लेकर याचिका दायर की गई थी, जिसमें किसी को भी भारतीय बताने की आवश्यकता नहीं है। मुस्लिम अपना दस्तावेज रखे हैं, सभी अपना दस्तावेज रखे हैं। भूपेश बघेल ने कहा कि RSS के लोग हिंदुत्व की बात करते हैं, पहले ये बताएं कि हिंदू के किस पंथ से जुड़े हैं।

सीएम बघेल ने कहा कि आरएसएस और भाजपा को बैठक की आवश्यकता क्यों पड़ी ? बीजेपी और आरएसएस के बीच लंबी दरार है, जिसको पाटने के लिए ये बैठक आयोजित की गई है, हिंदू तो लंबे समय से हैं, आरएसएस अभी का है, यह मात्र राजनीति है।

भूपेश बघेल ने कहा कि भारत की संस्कृति कभी समाप्त नहीं हो सकती, यहां हर तरह की संकृति है, जो आजीवन रहेगी, हिंसा गुड़ागर्दी ये हमारी संस्कृति नहीं है, लेकिन भाजपा भटक गई है, ये लोग मानव से घृणा करते हैं। RSS के लोग मात्र घृणा फैलाने का काम करते हैं, हिंदू की बात करते हैं, लेकिन हिंदुओं के लिए कुछ नहीं किए हैं। इन्होंने मात्र अल्पसंख्यक लोगों को भड़काने का काम किया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर