नान घोटाले पर IAS अनिल टुटेजा ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को लिखा पत्र, कहा- लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद
नान घोटाले पर IAS अनिल टुटेजा ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को लिखा पत्र, कहा- लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद

रायपुर। नान घोटाले में आरोपी बनाए गए आईएएस अनिल टुटेजा ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को एक पत्र लिखकर स्वयं पर लगे आरोपों को लेकर निशाना साधा है। तीन पन्नों के खुले पत्र में टुटेजा ने पूर्व सीएम से आग्रह किया है कि वे जांच एजेंसियों को निर्देशित करें कि उनके विरुद्ध न्यायालय में चालान पेश करने से पूर्व नवीन साक्ष्य एवं तथ्यों की विस्तृत विवेचना के बाद ही उचित निर्णय लिया जाये।

उन्होंने पत्र साफ तौर पर लिखा जिस आरोप को आपकी सरकार ने नकार दिया और निराधार बताया। आज उन्हीं के लिए मुझे ट्रायल का सामना करना पड़ रहा है। मेरी पदोन्नति रुक गई और लगातार प्रताड़ना का शिकार हुआ अब बेबुनियाद आरोप लगाना बंद करिए।

बता दें मंगलवार को सीएम भूपेश बघेल ने नान घोटाले और चिटफंड स्कैम में जांच की मांग को लेकर ईडी को पत्र लिखा था। उसके बाद से छत्तीसगढ़ में एक बार फिर नान का जिन्न निकल आया है। इस पत्र को लेकर सीएम बघेल ने कहा था कि मैने जो पत्र लिखा है उसमें दोनों घोटाले पर मैंने जांच की मांग की है। इसके अलावा नान मामले में सीएम मैडम और सीएम सर कौन हैं। इसके अलावा कथित डायरी में किन किन लोगों के नाम शामिल हैं उनकी भी जांच की मांग मैने की है। “chhattisgarh chit fund scam. इस दौरान भूपेश बघेल ने रमन सिंह पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि” साल 2004 से 2015 के दौरान यह घोटाला हुआ। जिसमें उस समय सीएम रमन सिंह थे और उनके कहने पर ही एसीबी के ऑफिसर्स ने इन घोटालों के आरोपियों को बचाने का काम किया। आरोपियों से जो कागजात मिले उसमें सीएम सर और सीएम मैडम का नाम सामने आया। लेकिन न तो इसका पता लगाया गया और न ही कार्रवाई की गई”

देखें IAS ने पत्र में और क्या लिखा